डफली बजाते हुए किसान आंदोलन में पहुंचे थे जामिया के छात्र/छात्रा किसानों ने डपटकर भगाया

कृषि कानून के विरोध में 19 दिनों से दिल्ली में किसान आंदोलन कर रहे हैं, केंद्र सरकार और किसानों के बीच पांच दौर की वार्ता हो चुकी है जो बेनतीजा रही. किसान चाहते हैं कि कृषि कानून रद्द हो वहीँ सरकार किसी भी कीमत पर कृषि कानून को रद्द करने के लिए तैयार नहीं है.

किसानों के आंदोलन में शामिल होने के लिए रविवार को जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के छात्रों के एक समूह को यूपी गेट (गाजियाबाद)-गाजीपुर (दिल्ली) सीमा पर पहुंचा लेकिन किसानों ने डपटकर भगा दिया, लाइव हिंदुस्तान के मुताबिक़, पुलिस ने यह जानकारी दी है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, लड़कियों समेत छह छात्रों का समूह डफली बजाते हुए किसानों को समर्थन देने आया था। लेकिन जब किसान नेताओं ने प्रदर्शन स्थल पर छात्रों की मौजूदगी पर आपत्ति जतायी तो पुलिस ने उन्हें वापस भेज दिया।

बता दें कि कृषि कानून के विरोध में किसान आज भूख हड़ताल पर हैं, सुबह आठ बजे से शुरू हुआ अनशन शाम पांच बजे तक चलेगा। किसानों को इसमें आम आदमी पार्टी का भी साथ मिला है. इससे पहले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मिलकर दो दिन पहले ही किसानों ने चिल्ला बॉर्डर को खाली कर दिया। चिल्ला बॉर्डर नोएडा को दिल्ली से जोड़ता है. हरियाणा और उत्तराखंड के किसान कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मिलकर कृषि कानून का समर्थन कर चुके हैं.