USA: किसानों के समर्थन में प्रदर्शनकारियों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा तोड़ लपेट दिया खालिस्तान का झंडा

तस्वीर साभार - वरिष्ठ पत्रकार आदित्यराज कौल ट्विटर

कृषि कानून के विरुद्ध पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश व् हरियाणा के कुछ किसान संगठन पिछले 18 दिनों से दिल्ली में आंदोलन कर रहे हैं, किसान आंदोलन में सबसे ज्यादा सिख किसान हिस्सा ले रहे हैं। किसानों के समर्थन में प्रदर्शन करते हुए अमेरिका में कुछ प्रदर्शनकारियों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा को विखंडित कर दिया, यही नहीं! प्रतिमा पर खालिस्तान के झंडे भी लपेट दिया। ऐसे में यह साफ़ हो जाता है कि ये कुकृत्य खालिस्तानी आतंकियों ने किया है।

किसान आंदोलन की आड़ में देशविरोधी ताकतें खुलकर सामने आ गई हैं और कुडीच हरकत कर रही हैं. शनिवार ( 12 दिसंबर, 2020 ) को किसानों की मागों के समर्थन में वॉशिंगटन स्थित भारतीय दूतावास के सामने प्रदर्शन हुए। इस प्रदर्शन में भारतीय दूतावास के पास लगी बापू की प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ की गई। प्रदर्शनकारियों ने न सिर्फ महात्मा गांधी की प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ की बल्कि कालिख भी पोत दिया और बाद में खालिस्तान का झंडा लहरा दिया।

आपको बता दें कि कनाड़ा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने भी किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए राजनितिक रंग देने की कोशिश की थी लेकिन भारतीय विदेश मंत्रालय ने फटकार लगाते हुए कहा कि हमारे आंतरिक मामलों में किसी बाहरी का हस्तक्षेप स्वीकार नहीं है, वहीँ ब्रिटेन के एक सिख सांसद ने प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन से कहा था कि वो इस मामलें में हस्तक्षेप करें। हालाँकि पीएम जॉनसन समझ नहीं पाए और उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तान के रिश्ते ठीक है, उम्मीद है कि दोनों मिलकर आपस में सुलझा लेंगे।

गौरतलब है कि आंदोलनकारी किसानों की मांग है कि तीनों नए कृषि कानून रद्द किये जाएँ वहीँ भारत सरकार का कहना है कि किसानों को कानून में जिस चीज से दिक्कत हो बताएं हम संसोधन को तैयार हैं, अबतक 5 दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन नतीजा कोई नहीं निकल सका है.