किसान आंदोलन: भारत बंद के नाम पर वामपंथियों ने की अराजकता, जबरन रोकी ट्रेन!

कृषि कानून के विरोध में किसान संगठनों ने आज भारत बंद बुलाया है, अपनी राजनैतिक रोटी सेंकने के लिए कांग्रेस समेत कई राजनैतिक पार्टियां भी भारत बंद में कूद गई हैं। भारत बंद के नाम पर राजनैतिक पार्टियों की गुंडागर्दी जारी है.

वामपंथी पार्टी सीपीआईएम् ने भारत बंद के नाम पर जमकर अराजकता की, भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पर जबरन ट्रेन जाम की, यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में हजारों किसान पिछले 12 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। किसानों ने कानून के खिलाफ आज यानी मंगलवार (8 दिसंबर) को एक दिन के लिए ‘भारत बंद’ का ऐलान किया है। पूरे देश में आज सुबह 11 बजे से लेकर शाम 3 बजे तक ‘भारत बंद’ बुलाया गया है।

हालांकि, इसका असर अभी से ही देश के अलग-अलग हिस्सों में दिखने लगा है। ओडिशा और महाराष्ट्र में ट्रेनें रोकी गईं हैं। किसानों के इस भारत बंद को कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, सपा समेत देश की 18 राजनीतिक पार्टियों ने भी अपना समर्थन दिया है। भारत बंद के दौरान परिवहन सेवा से लेकर फल-सब्जी की आपूर्ति प्रभावित हो सकती है। केंद्र सरकार और किसानों के प्रतिनिधियों के बीच पांच दौर की वार्ता हो चुकी है, मगर अब तक कोई हल नहीं निकल सका है।