राजस्थान में भी कांग्रेस की उल्टी गिनती शुरू, पंचायत चुनाव में करारी हार

साभार- news track

लगातार चुनाव हारने का रिकॉर्ड बना रही कांग्रेस की अब राजस्थान में भी उल्टी गिनती शुरू हो गई है, राजस्थान में 21 जिलों में जिला परिषद् और पंचायत समिति के चुनाव हुए थे, जिसके नतीजे मंगलवार ( 8 दिसंबर, 2020 ) को जारी किये गए, इन चुनाव परिणामों से कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा. वहीँ भाजपा ने बड़ी जीत हासिल की. राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम और कांग्रेस नेता सचिन पायलट समेत 6 मंत्रियों के गढ़ में कांग्रेस चुनाव हार गई.

भाजपा को 13 जिला परिषद में जीत दिलाई है, वहीँ कांग्रेस पांच जिला परिषदों में ही अपना रुतबा कायम रख सकी है। इन 21 जिलों की 222 पंचायत समितियों में भी भाजपा भारी रही है। कांग्रेस को 81 जबकि भाजपा को 93 पंचायत समितियों में बहुमत मिला है। सत्ता के साथ चलने वाले इन चुनावों में माना जा रहा था कि कांग्रेस भारी रहेगी, लेकिन मतगणना के बाद आए नतीजों ने पूरा समीकरण ही बदल कर रख दिया है।

राजस्थान के 21 जिलों की कुल 222 पंचायत समितियों में चुनाव हुआ। इनमें से 93 में भाजपा को बहुमत मिला, जबकि 81 में कांग्रेस बहुमत पर रही। 42 ऐसी पंचायत समिति है, जहां पर किसी को बहुमत नहीं मिला। साथ ही पांच पंचायत समितियों में अन्य दलों ने कब्जा जमाया।

कांग्रेस कहती थी कि किसान भाजपा सरकार से नाराज है लेकिन राजस्थान का चुनाव परिणाम आने के बाद यह साफ़ हो गया कि किसान दरअसल भाजपा से नहीं बल्कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार से नाराज है और चुनाव में अपनी नाराजगी दिखा दी.

बूंदी, झालावाड़, भीलवाड़ा, पाली, अजमेर, टोंक, उदयपुर, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, चूरू, जालौर, सीकर, झुन्झुनू में भाजपा को बहुमत मिला है। जबकि कांग्रेस को हनुमानगढ़, प्रतापगढ़, जैसलमेर, बांसवाड़ा और बीकानेर में बहुमत हासिल हुआ है। वहीं, बाड़मेर, डूंगरपुर और नागौर में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है।