कांग्रेस के बड़े नेताओं ने क्यों नहीं किया हैदराबाद में चुनाव प्रचार, अशोक गहलोत ने बताया कारण

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव में भाजपा ने पूरी ताकत झोंककर इस चुनाव को दिलचस्प बना दिया था. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से लेकर केंद्रीय गृहमंत्री से लेकर अमित शाह तक ने चुनाव प्रचार किया, हालाँकि कांग्रेस के बड़े पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करने हैदराबाद नहीं पहुंचे, ऐसे में सवाल उठ रहा था कि आखिर कांग्रेस के बड़े नेताओं ने चुनाव प्रचार क्यों नहीं किया, अब इस सवाल का जवाब दिया है कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने.

राजस्थान के मुख्यमंत्री और सोनिया गांधी के करीबियों में से एक अशोक गहलोत का कहना है कि कोरोना की वजह से कांग्रेस के बड़े नेताओं ने प्रचार नहीं किया, उन्होंने कहा कि कोरोना काल में हमारी पार्टी का ध्यान लोगों आजीविका बचाने पर था तब भाजपा नेताओं के लिये राजनीति जरूरी थी।

अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में लिखा, #Hyderabad के नगर निगम चुनावों में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, केंद्रीय गृह मंत्री श्री #AmitShah और कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों का जाकर कोरोना प्रॉटोकोल का उल्लंघन करना इनकी सोच दर्शाता है। यह दिखाता है कि भाजपा चुनाव जीतने के लिये आमजन के जीवन से भी समझौता कर सकती है। जब हमारा सारा ध्यान जीवन और आजीविका बचाने पर था तब भाजपा नेताओं के लिये राजनीति जरूरी थी।

अगले ट्वीट में गहलोत ने लिखा, कोरोना के दौरान राजस्थान सरकार का पूरा ध्यान महामारी की रोकथाम पर था। इसलिये कांग्रेस ने प्रदेश-केंद्रीय स्तर के नेताओं को इन चुनावों में प्रचार हेतु नहीं भेजा ताकि भीड़ इकट्ठा न हो, महामारी का फैलाव रुक सके। वहीं BJP के केंद्रीय मंत्री तक इन चुनावों में प्रचार के लिये उतर गये।

आपको बता दें कि ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में भाजपा ने 49 सीटों पर जीत दर्ज की, वहीँ कांग्रेस सिर्फ दो सीटों पर सिमट कर रह गई, अपनी मेहनत की बदौलत भाजपा चार सीट से सीधा 49 सीट पर पहुँच गई और कांग्रेस अब कोरोना का हवाला दे रही है. बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान भी कोरोना था तब तो कांग्रेस नेताओं ने खूब प्रचार किया था.