कर्नाटक: भाजपा सरकार लाएगी गौहत्या विरोधी बिल, कांग्रेस करेगी इसका विरोध, सिद्धारमैया का ऐलान

तस्वीर साभार - rediff.com

गौहत्या पर लगाम लगाने के लिए कर्नाटक की भाजपा सरकार गौहत्या विरोधी बिल लाने की तैयारी कर रही है, अभी मसौदा भी नहीं तैयार हुआ उससे पहले ही कांग्रेस ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। यानी कांग्रेस की मंशा साफ़ है कि वो नहीं चाहती गौहत्या पर लगाम लगे इसीलिए बिल के आने से पहले ही विरोध करना शुरू कर दिया है.

दरअसल भाजपा के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पशुपालन मंत्री प्रभु चौहान ने हाल ही में कहा कि हम जल्द ही गौहत्या पर लगाम लगाने के लिए गौहत्या विरोधी बिल लाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके बाद राज्य सरकार गौ हत्या, बिक्री और गोमांस की खपत पर प्रतिबंध लगाएगी. सरकार के इस ऐलान के बाद कांग्रेस भड़क गई है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि इस बिल के आने से कई लोग बेरोजगार हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज्य में गौ हत्या विरोधी बिल का विरोध करेगी, क्योंकि इस बिल के आने के बाद सभी लोग, जो गोमांस पर निर्भर हैं वे बेरोजगार हो जाएंगे। उन्होंने कहा, सरकार आरएसएस (RSS) द्वारा तैयार किए गए बिल को पेश करने की तैयारी में है. लेकिन हम इसे पास नहीं होने देंगे।

आपको बता दें कि बता दें कि इससे पहले कई राज्यों में गौ हत्या विरोधी बिल पारित हो चुका है. उत्तर प्रदेश में गौ हत्या पर तीन साल से 10 साल की सजा और जुर्माना तीन लाख से पांच लाख रुपये तक का प्रावधान है.

अब सवाल यह उठता है कि कांग्रेस को गौहत्यारों से इतना लगाव क्यों है, आखिर कांग्रेस क्यों नहीं चाहती कि गौहत्या पर लगाम लगे. राह में रोड़ा डालने का कांग्रेस का इतिहास ही रहा है, उसी पथ पर आगे बढ़ रही है. ध्यान दिला दें कि कांग्रेस पार्टी ही अयोध्या राम मंदिर में बाधा बनी थी, हालाँकि कर कुछ नहीं पाई सर्वोच्च अदालत के फैसले के बाद अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है.

 

loading...