टुकड़े-टुकड़े गैंग, इटली से ट्वीट करने वाले किसानों को कर रहे गुमराह: अर्णब गोस्वामी

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए तीन नए कृषि कानून के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर हजारों किसान लगभग 35 दिन से आंदोलन कर रहे हैं. आंदोलनकारी किसानों की मांग है कि कृषि कानून को रद्द किया जाय क्योंकि ये किसान विरोधी है..आंदोलनकारी किसानों को कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियों का भी साथ मिल रहा है.

किसान नेताओं और केंद्र सरकार के बीच कई दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन अबतक कोई समाधान नहीं निकला है। इसी बीच पत्रकार अर्नब गोस्वामी ने रिपब्लिक टीवी के अपने शो “पूछता है भारत” में दावा किया है कि ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ और इटली से ट्वीट करने वाले किसानों को गुमराह कर रहे हैं।

अर्नब ने आरोप लगाया है कि ये लोग किसान आंदोलन की आड़ में तोड़-फोड़ कर रहे हैं। अर्नब ने कहा “किसानों का आंदोलन अब खत्म होने वाला है। कल जब टेबल पर किसान नेता और केंद्र सरकार के मंत्री आमने सामने होंगे तो इसका हल जरूर निकलेगा। सरकार ने किसानों को मनाने का पूरा ब्लू प्रिंट तैयार कर लिया है। नए साल की शुरुआत से पहले आपको अच्छी खबर मिलेगी।

आपको बता दें कि 40 किसान नेताओं और केंद्र सरकार के बीच आज सातवें राउंड की बातचीत जारी है, दिल्ली के विज्ञान भवन में दोपहर दो बजे शुरू हुई बातचीत अनवरत जारी है. लोगों की निगाहें टिकी हुई हैं इस बातचीत पर।