पिता ने चलवाई थी रामभक्तों पर गोलियां, बेटा बना रामभक्त: अखिलेश बोले- परिवार के साथ करूंगा मंदिर के दर्शन

जबसे अयोध्या मामलें पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया तबसे लगातार रामभक्तों की संख्या में इजाफा हो रहा है, कभी रामभक्तों पर गोलियां चलवाने वाले मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव भी अब रामभक्त बन गए हैं, सपा अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भगवान राम सपा के हैं. हम राम भक्त और कृष्ण भक्त हैं।

अयोध्या पहुंचे अखिलेश ने ये भी कहा कि राम मंदिर बनने के बाद वो अपनी पत्नी और बच्चों के साथ दर्शन करने आएंगे. उन्होंने कहा कि भगवान विष्णु के जितने भी अवतार हैं. वह सारे भगवान को मानते हैं और जब भगवान राम अयोध्या आए थे तो उनके ऊपर पारिजात के फूलों की वर्षा की गई थी इसीलिए उनकी सरकार में सबसे पहले अयोध्या में पारिजात के वृक्ष लगाए गए।

अखिलेश ने कहा कि अयोध्या और फैजाबाद में जो भी विकास कार्य हुए हैं, वह सब उन्हीं के कार्यकाल में हुए हैं. अयोध्या और फैजाबाद में जो विकास कार्य को गति दी गई थी वह आज भी जनता को याद है. समाजवादी लोग इस बात को जानते हैं।

आपको बता दें कि अक्टूबर 30, 1990- यही वो दिन है जब उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चला कर ‘सेकुलरिज्म’ के नए मसीहा बने थे। इसके बाद लोगों ने उन्हें ‘मौलाना मुलायम’, ‘मुल्ला मुलायम’ जैसे तमगों से नवाजा था।

loading...