राजस्थान: सरकारी अस्पताल में 8 घंटे में 9 नवजात बच्चों की मौत, परिजनों ने अस्पताल पर लगाए गंभीर आरोप

राजस्थान के कोटा में जेकेलोन अस्पताल में बुधवार रात 2 बजे से गुरुवार सुबह 10:30 बजे के बीच महज 8 घंटे के अंदर 9 नवजातों में दम तोड़ दिया। ये सभी नवजात 4 से 5 दिन के थे। परिजनों का आरोप है कि बच्चों की हालत बिगड़ने पर हम मदद के लिए गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन नाइट ड्यूटी स्टॉफ सोता रहा। बार-बार बुलाने पर भी डॉक्टर नहीं आए और उल्टा हमें डांटकर भगा दिया गया।

वहीं, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा का कहना है कि 3 बच्चे को मृत ही लाए गए थे, 3 बच्चों को जन्मजात बीमारी थी और 3 बच्चों की मौत फेफड़ों में दूध जाने के कारण हुई है। सीएमओ और हैल्थ मिनिस्टर ने पूरे मामले पर रिपोर्ट मांग ली।

दोनों अफसरों ने प्रिंसिपल डा. विजय सरदाना, एडिशनल प्रिंसिपल डा. राकेश शर्मा, अधीक्षक डा. एससी दुलारा, एचओडी डा. एएल बैरवा के साथ मीटिंग की और सभी पहलुओं पर चर्चा कर जरूरी निर्देश दिए। चौंकाने वाली बात ये है कि इसी अस्पताल में पिछले साल दिसंबर में इसी अस्पताल में 36 दिनों में 107 नवजातों ने दम तोड़ा था और पूरे देश में यह बड़ी चर्चा का मुद्दा बना था।