पत्नी को ED का समन मिलते ही संजय राउत को याद आया लोकतंत्र, 4 बार हुआ था लोकतंत्र का मर्डर तब चुप थे

प्रवर्तन निदेशालय ( ED) ने शिवसेना के सांसद संजय राऊत की पत्नी को समन क्या भेजा वो अपना मानसिक संतुलन ही खो बैठे और खुद को नंगा घोषित कर दिया। यही नहीं पत्नी को ED आ समन मिलने के बाद संजय राउत को लोकतंत्र भी याद आ गया. ईडी के समन से आगबबूला संजय राउत ने केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि वह इस तरह की चीजों से डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी वर्षा राउत के नाम सियासी विरोध की वजह से समन भेज गया है। ये लोकतंत्र में जायज नहीं है.

बीते अप्रैल महीनें में महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं की पीट-पीटकर ह्त्या कर दी गई, तब शिवसेना खामोश रही। मुंबई में अभिनेत्री कंगना रनौत का दफ्तर तोडा गया तब भी शिवसेना चुप ही रही। एक रिटायर्ड नेवी अफसर को पीटा गया मुंबई में, तब भी शिवसेना चुप रही. वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी को अपराधियों की तरह गिरफ्तार करके जेल में डाला गया तब भी शिवसेना चुप ही रही। अब जब ED ने संजय राउत की पत्नी को समन भेजा तो तुरंत शिवसेना को लोकतंत्र याद आ गया. संजय राउत ने ED के समन एक राजनीतिक साजिश बताया है।

जानकारी के अनुसार, पीएमसी बैंक घोटाल की जांच मामलें में संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को ED ने समन भेजा है और 29 दिसंबर को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। हालाँकि स्वास्थ्य का हवाला देते हुए संजय की पत्नी ED के सामने पेश नहीं हुई. 5 जनवरी 2020 का समय माँगा है. वर्षा अब 5 जनवरी को ईडी कार्यालय जा सकती हैं। ईडी वर्षा से 55 लाख रुपये के लेनदेन मामले में पूछताछ करना चाहती है।

loading...