CM बिप्लब देब ने बोला गुपकार गैंग पर हमला, कांग्रेस को भी लिया आड़े हाथ

भारत का खाकर हमेशा भारत के खिलाफ जहर उगलने वाले कश्मीरी नेताओं ने एक गठबंधन बनाया है जिसका नाम दिया है गुपकार गठबंधन। इस गठबंधन में पहले कांग्रेस भी शामिल थी लेकिन लेकिन बवाल बढ़ता देख कांग्रेस ने खुद को गुपकार गैंग से अलग कर लिया। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा तक ने गुपकार गैंग पर निशाना साधा था. अब त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब ने गुपकार गैंग पर निशाना साधा है.

भाजपा के दिग्गज नेता और त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने कहा कि गुपकर डिक्लेरेशन पर कांग्रेस की सफाई बेतुका और तथ्य से परे है। वह गुपकर का हिस्सा थी और अब भी है। कश्मीर के उनके नेताओं के बयान से यह स्पष्ट हो जाता है। सीएम बिप्लब ने लिखा, यही नही कांग्रेस पार्टी गुपकर दलों के साथ मिलकर चुनाव भी लड़ रही है। वह हमेशा से देशद्रोही कार्यों मे लिप्त लोगों के साथ रहती आई है।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में एक नया गठबंधन बना है, जिसका नाम है गुपकार गठबंधन। इस गठबंधन में फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती की पार्टी समेत कश्मीर के कई मुख्यधारा के दल हैं, गुपकार गैंग मिलकर कश्मीर में डीडीसी चुनाव लड़ेगी।

भाजपा ने इसे गुपकार गैंग बताया है. गैंग शब्द सुनकर गुपकार में शामिल नेताओं और पार्टियों को मिर्ची लग गई. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश उर्फ़ जेपी नड्डा ने कहा कि गैंग शब्द का प्रयोग तब हुआ जब एक ने कहा कि अनुच्छेद 370 को दोबारा लागू करने में चीन हमारी मदद करें। इसके बाद कहने को क्या रह जाता है। उसी तरह महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जब तक कश्मीर का झंडा नहीं है, तब तक में भारत के झंडे को नहीं मानती।

आपको बता दें कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के मुखिया फारुख अब्दुल्ला ने कहा था कि हम चीन की मदद से कश्मीर में दोबारा धारा 370 लगवाएंगे, इसके अलावा उन्होंने कहा था हम चाहते हैं कि कश्मीर पर चीन शासन करे. वहीँ महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि जब तक हमें हमारा झंडा नहीं मिल जाता तबतक तिरंगे का सम्मान नहीं करेंगे। ये गद्दारी नहीं है तो क्या है. महबूबा मुफ्ती को कश्मीरी झंडा तभी मिल् सकता है जब कश्मीर में धारा 370 दोबारा लगेगी, और मोदी सरकार में ऐसा होना फिलहाल संभव नहीं है.

loading...