सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की तेजबहादुर यादव की याचिका, जानें पूरा मामला

सीमा सुरक्षा बल ( बीएसएफ ) के बर्खास्त जवान तेजबहादुर यादव की याचिका माननीय सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है, तेजबहादुर यादव ने पीएम मोदी
के निर्वाचन को रद्द करने मांग की थी, तेजबहादुर यादव ने पहले हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. वहां से याचिका खारिज होने के बाद सुप्रीम कोर्ट पहुंचे और यहाँ भी उन्हें निराशा ही लगी अर्थात याचिका ख़ारिज हो गई.

दरअसल, तेजबहादुर यादव का नामांकन पत्र निर्वाचन अधिकारी ने पिछले साल एक मई को खारिज कर दिया था। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस निर्णय के खिलाफ तेज बहादुर की याचिका खारिज कर दी थी। बर्खास्त जवान ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के इस फैसले को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी थी। लेकिन याचिका खारी हो गई

बता दें कि बीएसएफ जवानों को दिए जाने वाले खाने की शिकायत करते हुए एक वीडियो सार्वजनिक करने वाले तेज बहादुर को अनुशासनहीनता के लिए नौकरी से बर्खास्त किया गया था।

तेजबहादुर ने 2019 के लोकसभा चुनाव में वाराणसी से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर नामांकन भरा था. लेकिन निर्वाचन अधिकारी ने नामांकन पत्र में नौकरी से बर्खास्त होने की वजह सही न बताने के चलते उसे खारिज कर दिया था.