बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना के पक्ष में सुनाया फैसला तो आहत हुए संजय राऊत, दुःखी मन से बोले-?

बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस कंगना रनौत की बड़ी जीत हुई है, बॉम्बे हाईकोर्ट ने न सिर्फ कंगना रनौत के दफ्तर पर चले बुलडोजर की कार्रवाई को गलत बताया बल्कि तोड़ने वालों को हर्जाना भी भरने को कहा है। बॉम्बे हाईकोर्ट के इस फैसले का भाजपा नेताओं ने भी स्वागत किया है वहीँ अब शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत की भी प्रतिक्रिया आई है, संजय राउत के बयान से लगता है कि कंगना रनौत के पक्ष में फैसला आने से वो काफी दुःखी हैं. उन्होंने कहा कि कंगना ने मुंबई को POK था क्या राजनैतिक पार्टियां इससे सहमत हैं.

शिवसेना के राज्यसभा सांसद और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा कि अभिनेत्री कंगना रनौत ने मुंबई पुलिस को माफिया और मुंबई को POK कहा था, क्या? अदालत के आदेश से उत्साहित पार्टियां इससे सहमत हैं. उन्होंने आगे कहा कि न्यायाधीशों या न्यायालयों के बारे में अपमानजनक टिप्पणी अवमानना का कारण बनती है, क्या यह बदनामी नहीं है जब कोई महाराष्ट्र/मुंबई में इस तरह की टिप्पणी करता है।

आपको बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट का फैसला इस बात पर नहीं था कि कंगना ने मुंबई को क्या कहा, क्या नहीं कहा, बल्कि इसपर था कि शिवसेना नियंत्रित बीएमसी ने कंगना के दफ्तर पर बुलडोजर चला दिया जिसे अदालत गलत बताया है.

गौरतलब है कि सुशांत की मौत के मामलें में और पालघर में संतो की ह्त्या मामलें में कंगना रनौत ने मुखर होकर आवाज उठाया था. इसके बाद शिवसेना नियंत्रित बीएमसी ने अभिनेत्री के मुंबई स्थित ऑफिस में जमकर तोड़फोड़ की थी। कंगना ने बॉम्बे हाई कोर्ट में बीएमसी के खिलाफ याचिका दायर करके मुआवजे की मांग की थी। अब कोर्ट ने इस मामले में कंगना के पक्ष में फैसला दिया है। कोर्ट का कहना है कि बीएमएसी ने खराब नीयत से यह कदम उठाया था और कंगना का दफ्तर गलत इरादे से तबाह किया गया। कोर्ट ने कहा कि यह नागरिकों के आधिकार के भी विरुद्ध था। साथ ही अदालत ने बीएमसी को हर्जाना भरने को भी कहा है.

कंगना रनौत को कितना मुआवजा दिया जाए इसके लिए कोर्ट ने एक वैल्युअर भी नियुक्त किया है। वह नुकसान का अनुमान लगाएगा इसके बाद मुआवजे की राशि तय की जाएगी। कंगना ने 2 करोड़ के मुआवजे की मांग की थी।