मुंबई: शिवसेना नेता ने दुकानदार से कहा, ‘कराची स्वीट्स’ का नाम बदलो तो भड़के संजय राऊत

मुंबई, 19 नवंबर: मुंबई के बांद्रा वेस्ट इलाके में एक मिठाई की दुकान है, इस दुकान का नाम कराची स्वीट्स है, शिवसेना नेता नितिन नंदगांवकर चाहते हैं कि कराची स्वीट्स का नाम बदला जाय. वहीँ शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत का कहना है कि कराची स्वीट्स का नाम बदलने की कोई जरूरत नहीं है।

दरअसल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें शिवसेना के नेता नितिन नंदगांवकर को कराची स्वीट्स की दुकान में जाते हुए देखा जा सकता है. दुकान के मालिक से उन्होंने कहा कि कराची स्वीट्स का नाम बदलकर मराठी में कोई नाम रख दो, इस वीडियो को उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर किया है।


फेसबुक पर वीडियो शेयर करके शिवसेना नेता नितिन नंदगांवकर ने लिखा है कि मुंबई और महाराष्ट्र में अब कराची नाम नहीं चलेगा। कराची आतंकियों के लिए मशहूर जगह है, इसलिए महाराष्ट्र में कराची नाम की कोई जरूरत नहीं, उन्होंने लिखा है कि मुंबई में रहते हो तो मुंबई पर गर्व करो, पाकिस्तान की यादें मुंबई में नहीं चलेंगी। कराची बेकरी, कराची स्वीट। कराची स्कूल मुंबई में नहीं चलेंगे! उन्होंने दुकानदार को चेतावनी देते हुए कहा कि 15 दिन के भीतर नाम बदल लो. वीडियो वायरल होनें के बाद मामलें ने तूल पकड़ लिया, अब इस मामलें पर शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता संजय राउत की प्रतिक्रिया सामने आई है।

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राऊत ने शिवसेना नेता नितिन नंदगांवकर से असहमति जताते हुए कहा कि कराची बेकरी और कराची स्वीट्स पिछले 60 सालों से मुंबई में है। उनका पाकिस्तान से कोई लेना-देना नहीं है। अब उनके नाम बदलने के लिए कहने का कोई मतलब नहीं है। संजय राऊत ने कहा कि उनका ( नितिन नंदगांवकर ) नाम बदलने की मांग शिवसेना का आधिकारिक रुख नहीं है।

संजय राऊत के बयान से साफ़ है कि वो भी नहीं चाहते कि कराची स्वीट्स का नाम बदला जाय., बता दें कि कराची पाकिस्तान का फेमस शहर है, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आतंकवादी दाऊद इब्राहिम इस समय कराची में ही छुपा है।