बिहार चुनाव हारने के बाद ट्विटर पर टिपटिपा रही थी RJD तो रुबिका लियाकत ने दिया करारा जवाब!

बिहार विधानसभा चुनाव हारने के बाद राष्ट्रीय जनता दल ( आरजेडी ) लगातार ट्विटर के जरिये एनडीए और सीएम नीतीश कुमार पर हमलावर है, आरजेडी यह बतानें की कोशिश कर रही है कि वो चुनाव हारी नहीं है, उसे हरवाया गया है. आरजेडी बार-बार कह रही है कि जनता ने तेजस्वी को अपना नेता चुना है.

बिहार विधानसभा चुनाव में मिली जीत के बाद जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार आज सातवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे, शपथग्रहण समारोह में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव शामिल नहीं होंगे। राजद ने शपथ ग्रहण का बायकॉट करने का ऐलान किया है. आरजेडी ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है.

आरजेडी ने अपने ट्वीट में लिखा, राजद शपथ ग्रहण का बायकॉट करती है। बदलाव का जनादेश NDA के विरुद्ध है। जनादेश को ‘शासनादेश’ से बदल दिया गया। बिहार के बेरोजगारों,किसानो,संविदाकर्मियों, नियोजित शिक्षकों से पूछे कि उनपर क्या गुजर रही है।NDA के फर्ज़ीवाड़े से जनता आक्रोशित है। हम जनप्रतिनिधि है और जनता के साथ खड़े है.

आरजेडी के इस ट्वीट पर जवाब देते हुए एंकर रुबिका लियाकत ने कहा कि मैं जीता तो युद्ध जीता , न जीता तो पाखंड हुआ…एबीपी न्यूज़ की एंकर व् पत्रकार रुबिका लियाकत ने अपने ट्वीट में लिखा, जनता के साथ खड़े रहने का मतलब होता है जनादेश का सम्मान करना… ये तो वही बात हुई- मैं जीता तो युद्ध जीता , न जीता तो पाखंड हुआ.

आपको बता दें कि सीएम नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण समारोह को लेकर आरजेडी ने कई ट्वीट किये हैं, ट्विटर के जरिये आरजेडी का कहना है कि बिहार में दो मजबूरों की मजबूर सरकार बन रही है! एक शक्तिविहीन, शिथिल और भ्रष्ट प्रमाणित हो चुके मजबूर CM! दूसरा चेहराविहीन और तन्त्र प्रपन्च को मजबूर वरिष्ठ घटक दल! इनकी मजबूरी हैं- राजद का जनाधार! और तेजस्वी यादव को अपना सर्वाधिक प्रिय नेता स्वीकार कर चुका बिहार!

loading...