जेल से फोन कर NDA विधायकों को मंत्रिपद का लालच दे रहे लालू यादव, वायरल हुआ बातचीत का ऑडियो

चारा घोटाले में सजायाफ़्ता लालू यादव झारखण्ड में बैठकर बिहार की राजनीति को प्रभावित कर रहे हैं, बिहार में एक बार फिर से एनडीए की सरकार बन गई है और नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है लेकिन महागठबंधन अभी भी जोड़ तोड़ के सहारे सरकार बनानें की कवायद में जुटा है. लालू यादव जेल से फोन करके एनडीए विधायकों को लालच दे रहे हैं, खरीद-फरोख्त करने की कोशिश कर रहे हैं.

रिपब्लिक भारत के पास लालू यादव की बातचीत का ऑडियो टेप भी है, जिसमें आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव एनडीए विधायकों को मंत्री पद का प्रलोभन दे रहे हैं. इसके अलावा एनडीए विधायकों से कह रहे हैं कि विधानसभा के स्पीकर का चुनाव है उसमें शामिल मत होइए। विधायक ने कहा कि पार्टी का आदेश है शामिल होना होगा तो लालू यादव ने कहा कि कह दो कोरोना हो गया है बाकि हम लोग संभाल लेंगे।

अगर एनडीए विधायक चुनाव में हिस्सा नहीं लेंगे तो स्पीकर महागठबंधन का बन जाएगा। लालू यादव द्वारा एनडीए विधायकों को दिए जा रहे प्रलोभन पार अभी तक राष्ट्रीय जनता दल ( आरजेडी ) का कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है.

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, लालू यादव रांची से एनडीए विधायकों को फोन कर रहे हैं, उन्हें लालच दे रहे हैं, मोदी ने कहा कि जब मैनें फोन किया तो फोन सीधे लालू यादव ने उठाया और मैनें उनसे कहा कि जेल से ये गंदी हरकतें मत करो, तुम सफल नहीं होगे। लालू यादव जिस नंबर से एनडीए विधायकों को फोन कर रहे हैं वो नंबर भी सुशील कुमार मोदी ने जारी किया है.

राष्ट्रीय जनता दल ( आरजेडी ) के मुखिया लालू यादव प्रसाद चारा घोटाले में इस समय रांची जेल में बंद हैं, हालाँकि नाम का जेल में हैं वो तीन महीनें से एक बंगले में मौज मार रहे हैं। अब सवाल यह उठता है कि जब लालू सजायाफ्ता हैं तो उन्हें जेल की बजाय बंगले में रखकर सारी सुविधा क्यों दी जा रही है., क्या कानून सिर्फ आम आदमी के लिए ही होता है.