अगर UP सरकार रवीश कुमार और सरदेसाई को गिरफ्तार कर ले तो SC आधीरात को छटपटायेगा: राज्यसभा सांसद, हरनाथ यादव

बॉम्बे हाईकोर्ट ने रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को अंतरिम राहत देने से इनकार कर दिया है, अदालत ने कहा कि सेशंस कोर्ट में जमानत अर्जी लगा सकते हैं, चार दिन में फैसला देगा। जस्टिस एसएस शिंदे और एमएस कार्णिक की खंडपीठ ने ये आदेश दिया।

बॉम्बे हाईकोर्ट से अर्नब गोस्वामी की अंतरिम जमानत याचिका खारिज होनें के बाद राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने ट्वीट करके कहा है कि अगर यूपी सरकार अभिसार शर्मा, रवीश कुमार और राजदीप को गिरफ्तार कर ले तो सुप्रीम कोर्ट आधी रात को छटपटायेगा।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, काश! आज उप्र सरकार अभिसार शर्मा, राजडीप सरदेसाई, पुण्यप्र सुन बाजपेयी, रविश कुमार को गिरफ़्तार कर ले लोकतंत्र खतरे में पडेगा SC आधीरात को छटपटायेगा, टीवी चैनल्स ढोल पीटेंगे। इनाम वापिस गैंग मेडल फेंकेंगे। सांसद ने अपने इस ट्वीट में हैशटैग “बर्खास्त महाराष्ट्र सरकार” के साथ केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी को भी टैग किया है.

आपको बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने जमानत के लिए अर्नब को निचली अदालत जाने को कहा है. एक इंटीरियर डिजाइनर और उनकी मां को खुदकुशी के लिए कथित रूप से उकसाए जाने के मामले में गिरफ्तार रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब को हाईकोर्ट ने राहत देने से इनकार कर दिया था. अर्नब ने अपनी गिरफ्तारी को गैर-कानूनी बताया था. अर्नब फिलहाल तलोजा जेल में बंद हैं।

तलोजा जेल शिफ्ट करने पर अर्नब ने अपनी जान को खतरा बताते हुए सुप्रीम कोर्ट से मदद की गुहार लगाई है, तलोजा जेल खूंखार गैंग्स, आतंकवादियों और अपराधियों से भरा हुआ है, इसी जेल में आतंकवादी दाऊद इब्राहिम के भी गुर्गे मौजूद है और इसी जेल में कई और बड़े गैंगस्टर्स भी मौजूद है।