अर्नब की गिरफ़्तारी के खिलाफ अमेरिका के कैलिफोर्निया में विरोध प्रदर्शन, एंटोनियों माइनों मुर्दाबाद के लगे नारे

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को मुंबई पुलिस ने बुधवार ( 4 नवम्बर, 2020 ) को सुबह लगभग साढ़े 6 बजे उनके घर से गिरफ्तार कर लिया। आत्महत्या के लिए उकसाने के दो साल पुराने बंद केस में अर्नब की गिरफ़्तारी हुई। जिस बर्बरतापूर्व तरीके से मुंबई पुलिस ने अर्नब को अरेस्ट किया उसका देशभर में विरोध हो रहा है। अब इसकी गूँज विदेशों तक भी पहुँच गई है, जी हाँ! अमेरिका के कैलिफोर्निया में वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी की गिरफ़्तारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुआ।

जबसे अर्नब गोस्वामी गिरफ्तार हुए तबसे देशभर में अर्नब के समर्थन में लोग सड़कों पर तो उतर ही रहे हैं. अब विदेशों में भी अर्नब की गिरफ़्तारी का विरोध हो रहा है. डीडी न्यूज़ के वरिष्ठ पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, अमेरिका के कैलिफोर्निया में अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी का विरोध प्रदर्शन।

वीडियो में देखा जा सकता है कि प्रदर्शन करने वाले सभी लोग अपने हाथों में पोस्टर-तख्ती ले रहे हैं, जिसमें अर्नब के समर्थन में कुछ न कुछ लिखा हुआ है, प्रदर्शन कर रहे लोगों ने सोनिया गांधी, शरद पवार और शिवसेना के खिलाफ नारेबाजी की, साथ ही कांग्रेस, शिवसेना, शरद पवार और एंटोनियों माइनों मुर्दाबाद के भी नारे लगाए।

आपको बता दें कि रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के संपादक को गिरफ्तार करने के बाद मुंबई पुलिस उन्हें अलीबाग कोर्ट में पेश करने ले गई. पुलिस ने अदालत से अर्नब की रिमांड मांगी लेकिन कोर्ट ने पुलिस की मांग को खारिज करते हुए अर्नब को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है, अर्नब की गिरफ़्तारी के बाद महाराष्ट्र मानवाधिकार आयोग ने एसपी रायगढ़ को नोटिस भेजकर पेश होने को कहा है।

बताते चलें की अर्नब को गिरफ्तार करने के लिए मुंबई पुलिस की रायगढ़ पुलिस गई थी, जिस तरह मुंबई पुलिस ने अर्नब के साथ आतंकी जैसा सलूक किया उससे मानवाधिकार आयोग नाराज है, इसे मानवाधिकारों का उल्लंघन माना है. महाराष्ट्र मानवाधिकार आयोग ने रायगढ़ के पुलिस अधीक्षक को नोटिस भेजकर 6 नवम्बर, 2020 को सुबह 11 बजे पेश होनें का आदेश दिया है।