माफ़ी मांगने का रिकॉर्ड बना रहे हैं प्रशांत भूषण, एक बार फिर मांगी माफ़ी

सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता प्रशांत भूषण ऐसा लगता है माफ़ी मांगने का रिकॉर्ड बना रहे हैं, प्रशांत भूषण पहले ट्वीट कर आलोचना करते हैं उसके बाद तपाक से माफ़ी मांग लेते हैं। भूषण ने सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश शरद अरविन्द बोबडे को लेकर एक बार फिर जनता को भ्रमित करने के मकसद से झूठ फैलाया, चूँकि आम जनता को कानून की जानकारी कम होती है उसी का फायदा उठाकर प्रशांत भूषण जैसे लोगों को भ्रमित करते रहते हैं।

प्रशांत भूषण ने झूठ फैलते हुए लिखा – मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार ने बोबडे को हेलीकाप्टर उपलब्ध करवाया, इसके जरिये बीजेपी को अब फायदा मिलेगा, विधायकों के अमान्य घोषित होने का केस बोबडे के पास है और अब बीजेपी की सरकार बोबडे को हेलीकाप्टर उपलब्ध करवा रही है. लोगों को भ्रमित करने के लिए भूषण ने ये ट्वीट किया था. भूषण को लगा कि इस भ्रम के लिए उनपर फिर से अवमानना का केस चल सकता है और एक बार फिर उसे या तो जुर्माने या तिहाड़ की सजा हो सकती है तो उन्होनें लिखित माफ़ी मांग ली।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 31 अगस्त को अपनी अवमानना के मामले में वकील प्रशांत भूषण को 1 रुपया जुर्माने की सजा दी थी. शीर्ष अदालत ने कहा था कि अगर प्रशांत भूषण यह जुर्माना 15 सितंबर तक जमा नहीं कराएंगे, तो उन्हें 3 महीने के लिए जेल भेजा जाएगा. 3 साल तक वकालत पर भी पाबंदी लग जाएगी।