बेंगलुरु हिंसा: कॉन्ग्रेस नेता संपत राज गिरफ्तार, बीमारी का बहाना बनाकर हुआ था फरार

तस्वीर साभार - ऑपइण्डिया

कर्नाटक के बेंगलुरु में मंगलवार ( 11 अगस्त, 2020 ) देर रात दंगे और आगजनी का भीषण नज़ारा देखने को मिला। 1000 से भी अधिक की मुस्लिम भीड़ ने दलित समाज से ताल्लुक रखनें वाले स्थानीय विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर को घेर लिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी। उनका आरोप था कि विधायक के रिश्तेदार ने पैगम्बर मुहम्मद को लेकर फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट किया है।

बेंगलुरु में हुए हिंसा की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA ) का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है, कांग्रेस नेता सम्पत राज को गिरफ्तार कर लिया गया है जोकि पूर्व पार्षद भी है. यह जानकारी क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट कमिश्नर संदीप पाटील ने दी।

कांग्रेस नेता संपत राज को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया है। उन पर हिंसक भीड़ को उकसा कर दंगे भड़काने का आरोप है। पिछले दिनों कोरोना के इलाज के दौरान संपत एक निजी अस्पताल में भर्ती होने के बाद फरार हो गए थे। इसके बाद से पुलिस लगातार इनकी तलाश कर रही थी। 13 नवंबर को कर्नाटक हाई कोर्ट ने संपत राज के लिए गैर जमानती वारंट भी जारी किया था।

मालूम हो कि इससे पहले कॉन्ग्रेस नेता संपत राज के नज़दीकी सहयोगी रियाजुद्दीन को गिरफ्तार करके न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। रियाजुद्दीन पर आरोप था कि उसने संपत राज को छुपने और फरार होने में मदद की।

loading...