परिवारवादी पार्टियों की सरकार लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा: पीएम मोदी

बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए की जीत और भाजपा के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय पर लोगों को सम्बोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने परिवार की पार्टियों को लोकतंत्र के लिए खतरा बताया. उन्होंने कहा कि परिवारों की पार्टियां या परिवारवादी पार्टियां, लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं. पीएम मोदी का निशाना उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे। सोनिया, प्रियंका और राहुल गांधी की तरफ था, हालाँकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया।

बिहार में मिली जीत के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि दुर्भाग्य से कश्मीर से कन्याकुमारी तक परिवारवादी पार्टियों का जाल लोकतंत्र के लिए खतरा बनता जा रहा है. देश का युवा भली-भांति जानता है. परिवारों की पार्टियां या परिवारवादी पार्टियां, लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे में भारतीय जनता पार्टी का दायित्व और बढ़ जाता है. हमें अपनी पार्टी में भीतर के लोकतंत्र को मजबूत बनाए रखना है.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी की सरकार है, उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री हैं और पहली बार चुनाव जीता उनका बेटा आदित्य ठाकरे कैबिनेट मंत्री हैं, इसी तरह कांग्रेस में अभी गांधी परिवार का ही दबदबा है. कश्मीर की बात करें तो नेशनल कॉन्फ्रेंस में अब्दुल्ला परिवार का दबदबा है. इसी तरह बिहार में आरजेडी में लालू और उनके बेटों रूतबा है। ठीक इसी प्रकार कर्नाटक में जनता दल सेकुलर यानी जेडीएस में देवगौड़ा परिवार का दबदबा है।