कांग्रेस में सिर फुटौव्वल जारी: कपिल सिब्बल के बाद अब पी. चिदंबरम ने खोला मोर्चा

बिहार विधानसभा चुनाव में करारी हार और कई राज्यों के उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों की शर्मनाक हार के बाद अब कांग्रेस पार्टी में बगावत के बिगुल बज चुके हैं। पार्टी नेता दो गुटों में बंटे नजर आ रहे हैं। एक गुट चाहता है कि कांग्रेस पार्टी को हार पर गहन आत्ममंथन करना चाहिए। वहीँ दूसरा गुट उसे खामोश रहने और पार्टी की अंदरूनी बातें मीडिया के सामने नहीं करने की नसीहत देने में लगा है।

बिहार चुनाव में कांग्रेस के शर्मनाक प्रदर्शन ने पार्टी की अंदरूनी कलह को और तेज कर दिया है। हार की बौखलाहट कांग्रेस में साफ नजर आ रही है और कांग्रेसी नेताओं के बीच फूट साफ नजर आ रही है।

अब कांग्रेस के प्रदर्शन पर आत्ममंथन की मांग करने वालों की लिस्ट में पी चिदंबरम का नाम भी जुड़ गया है। पी. चिदंबरम ने एक इंटरव्यू में माना है कि चुनाव के नतीजों ने पार्टी की चिंताएं बढ़ा दी हैं। चिदंबरम ने ये भी माना कि कांग्रेस का जमीनी स्तर पर संगठन या तो नदारद है या कमजोर पड़ा चुका है। इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल कुछ ऐसा ही बयान दे चुके हैं।

देश के पूर्व गृह व् वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने एक अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा कि कांग्रेस ने बिहार में अपने संगठन की क्षमता से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ा, जमीनी स्तर पर कांग्रेस का संगठन नदारद दिखा। इससे पहले कपिल सिब्बल ने कांग्रेस नेतृत्व पर हमला बोलते हुए आत्ममंथन की बात कही थी.

कपिल सिब्बल के इस बयान के बाद अशोक गहलोत और अधीर रंजन चौधरी ने सिब्बल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। गहलोत ने कहा कि कपिल सिब्बल को ऐसी बातें मीडिया से नहीं करनी चाहिए वहीँ अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कपिल सिब्बल बिहार चुनाव व् उपचुनाव में कितनी बार दिखे।

loading...