समीत ठक्कर को मिली जमानत, ठाकरे बाप-बेटे के खिलाफ ट्वीट करने पर मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था

समीत ठक्कर नाम के ट्विटर यूजर को जमानत मिल गई है, मुंबई कोर्ट ने समीत ठक्कर को जमानत दी, 24 अक्टूबर 2020 को उनकी गिरफ़्तारी हुई थी, नागपुर के रहने वाले समीत का कसूर सिर्फ इतना था कि उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनके बेटे कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे के खिलाफ ट्वीट किया था।

समित ठक्कर पर आरोप था कि उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. बताया जा रहा है कि ट्विटर यूजर समित ठक्कर ने सोशल मीडिया पर आदित्य ठाकरे को बेबी पेंगुइन कहा था।

समीत की जमानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने विचार करने से इनकार कर दिया और हाई कोर्ट से संपर्क करने के लिए कहा। इसके बाद निचली अदालत में मजिस्ट्रेट द्वारा समीत ठक्कर को जमानत दी गई। वो 21 दिनों से पुलिस हिरासत में थे।

आपको बता दें कि इससे पहले मुंबई पुलिस ने समीत ठक्कर को जिस अंदाज में कोर्ट में पेश किया, अपने आप में वो अचंभित करने वाला था, पुलिस ने समीत ठक्कर का चेहरा काले कपडे से ढककर कोर्ट में पेश किया था. वीडियो वायरल होने के बाद मुंबई पुलिस की जमकर आलोचना हुई थी.
आमतौर पर आतंकियों और कुख्यात अपराधियों का सर और चेहरा काले कपडे से ढका जाता है, लेकिन मुंबई पुलिस ने तो समीत ठक्कर का चेहरा काले कपडे से सिर्फ इसलिए ढक दिया क्योंकि उसने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के खिलाफ ट्वीट किया था.

loading...