महाराष्ट्र में दिवाली पर भी नहीं खोला जाएगा मंदिर, उद्धव सरकार ने जारी की गाइडलाइंस

कोरोना के बढ़ते मामलें को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने दीपावली के लिए गाइडलाइंस जारी की हैं. सरकार ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की वजह से जिस तरह बाकी त्योहार सादगी से मनाए गए, वैसे ही दीपावली का त्योहार भी सादगी से मनाया जाए.

गाइडलाइंस के मुताबिक, मंदिरों को को अभी तक नहीं खोला गया है इसलिए लोगों से अपील की गई है कि हर कोई घर में ही पूजा-पाठ करे. साथ ही दीपावली के चलते सार्वजनिक जगहों पर भीड़ इकट्ठा न होने और मास्क, सैनिटाइजर के ​इस्तेमाल की भी बात कही गई है.

महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि पटाखे न जलाएं तो बेहतर होगा क्योंकि इससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है और वायु व ध्वनि प्रदूषण बढ़ता है. कोरोना महामारी के मद्देनजर पटाखे फोड़कर पर्यावरण दूषित करने के बजाय संरक्षित करने पर ध्यान दें. दीपावली दीयों का त्योहार है इसलिए ज्यादा से ज्यादा दीप जलाकर त्योहार मनाएं. कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए घर के बूढ़ों और बच्चों को बाहर न जाने दें.

दीपावली पर इस बार कोरोना महामारी के मद्देनजर किसी भी तरह के सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जा सकते हैं. केवल ऑनलाइन के जरिए किसी भी कार्यक्रम को आयोजित कर उसमें हिस्सा लें.