ख़ारिज हुई अर्नब की बेल, मेजर पुनिया बोले- मीलार्ड ये कैसा कानून, बेल खारिज करने में 5 दिन क्यों लिये?

बॉम्बे हाईकोर्ट ने रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को अंतरिम राहत देने से इनकार कर दिया है, अदालत ने कहा कि सेशंस कोर्ट में जमानत अर्जी लगा सकते हैं, चार दिन में फैसला देगा। जस्टिस एसएस शिंदे और एमएस कार्णिक की खंडपीठ ने ये आदेश दिया।

बॉम्बे हाईकोर्ट से अर्नब गोस्वामी की अंतरिम जमानत याचिका खारिज होनें के बाद रि. मेजर पुनिया ने ट्वीट कर कहा मी लॉर्ड,,अगर सेशन कोर्ट ही भेजना था तो Bail खारिज करने में 5 दिन क्यों लिये।

रिटायर्ड मेजर सुरेंद्र पुनिया ने अपने ट्वीट में लिखा, कैसा क़ानून है ये? बॉम्बे हाईकोर्ट ने अर्नब गोस्वामी की जमानत याचिका खारिज की और कहा ज़मानत के लिये सेशन कोर्ट जाइये। उन्होंने आगे लिखा, मी लॉर्ड अगर सेशन कोर्ट ही भेजना था तो Bail खारिज करने में 5 दिन क्यों लिये। हमें याद है 4 लोगों को कुचल कर मारने वाले Actor को 15 मिनट में Bail मिली थी.

हाईकोर्ट ने जमानत के लिए अर्नब को निचली अदालत जाने को कहा है. बॉम्‍बे हाईकोर्ट में सुनवाई के पहले अर्नब ने सोमवार दोपहर जमानत के लिए सेशन कोर्ट का रुख किया है. एक इंटीरियर डिजाइनर और उनकी मां को खुदकुशी के लिए कथित रूप से उकसाए जाने के मामले में गिरफ्तार रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब को हाईकोर्ट ने राहत देने से इनकार कर दिया था. अर्नब ने अपनी गिरफ्तारी को गैर-कानूनी बताया था. अर्नब फिलहाल तलोजा जेल में बंद हैं.

तलोजा जेल शिफ्ट करने पर अर्नब ने अपनी जान को खतरा बताते हुए सुप्रीम कोर्ट से मदद की गुहार लगाई है, तलोजा जेल खूंखार गैंग्स, आतंकवादियों और अपराधियों से भरा हुआ है, इसी जेल में आतंकवादी दाऊद इब्राहिम के भी गुर्गे मौजूद है और इसी जेल में कई और बड़े गैंगस्टर्स भी मौजूद है।