लव जिहाद एक राजनीतिक मुद्दा है, भाजपा नहीं चाहती हिन्दू लड़की मुस्लिम लड़के से शादी करे: अलका लाम्बा

देश में अब लव जिहाद को लेकर नई बहस छिड़ गई है, भाजपा शासित मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की सरकार ने लव जिहाद पर कानून बनानें का एलान किया है तो वहीँ कांग्रेस पार्टी इसके खिलाफ है, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लव जिहाद पर बन रहे कानून को असंवैधानिक बताया है, वहीँ कांग्रेस नेता अलका लाम्बा का कहना है कि लव जिहाद एक राजनितिक मुद्दा है, भाजपा नहीं चाहती कि कोई हिन्दू लड़की किसी मुस्लिम लड़के से शादी करे। अलका लाम्बा ने ट्विटर पर एक थ्रेड के जरिये लव जिहाद पर अपनी बात रखी।

अलका लाम्बा ने अपने ट्वीट में लिखा, मेरी नज़र में लव_जिहाद मात्र एक राजनैतिक मुद्दा,जनता का ध्यान देश के अहम मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए BJP को कतई मंजूर नहीं  की कोई हिन्दू लड़की किसी मुस्लिम लड़के से शादी करे,अगर इसके उल्ट होता है तो शायद इन्हें कोई आपत्ति नहीं। देश क़ानून से चलेगा या BJP की मर्ज़ी से?

बकौल अलका लाम्बा, देश का संविधान और क़ानून हर किसी को अपने मन मुताबिक धर्म चुनने की आज़ादी देता है.जिसका हनन नहीं किया जा सकता रिश्ता-शादी में झूठ,धोखा,पहचान को छुपाना,हिंसा,किसी भी तरह की जबर्दस्ती के ख़िलाफ़ पहले से ही मजबुत क़ानून उपलब्ध हैं. कमी है तो बस बिना भेदभाव के उन्हें लागू करने की.

भाजपा पर हमला बोलते हुए अलका लाम्बा ने लिखा, जिस देश में 21वीं सदी में भी ऑनर_किलिंग जैसी घटनाएं होती हों, जहां परिवार, रिश्तेदारों, समाज़ को यह मंजूर नहीं होता कि लड़की अपनी मर्जी से अपना जीवन साथी चुन सके, जहां लव_मैरिज को अपराध माना जाता हो, वहाँ #BJP_RSS की ग़ैर क़ानूनी संकीर्ण सोच का फलना-फूलना कोई बढ़ी बात नहीं है.

अलका लाम्बा ने लिखा है, .#CAA #NRC की तर्ज पर लव_जिहाद मात्र एक धर्म विशेष के ख़िलाफ़ लोगों को निशाना बनाने के लिए BJP शासित राज्यों में लाने का प्रयास किया जा रहा है. क़ानून विशेषज्ञों का मानना है कि BJP शासित राज्यों द्वारा लाया जा रहा यह प्रस्ताव क़ानून की नजर में कहीं नहीं टिकेगा। समय की बर्बादी।

 

loading...