मुनव्वर राणा ने किया आतंक का समर्थन तो भड़के कुमार विश्वास, कहा- पहली बारिश में रंग उतर गया

मशहूर उर्दू शायर मुनव्वर राणा ने फ़्रांस में हुए आतंकी हमलें का समर्थन करके विवादी में आ गए हैं, देश के लोग मुनव्वर राणा के बयान से काफी गुस्से में हैं, लोकप्रिय कवि कुमार विश्वास ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने पंक्तियों के जरिए से मुनव्वर राणा के बयान पर निशाना साधा है। विश्वास ने जिन पंक्तियों को ट्वीट किया है, उनमें अंतिम पंक्ति हैं, पहली बारिश ही में ये रंग उतर जाते हैं।

मशहूर शायर मुनव्वर राणा के विवादित बयान से जुड़ी एक खबर पर रिएक्शन देते हुए विश्वास ने जावेद अख्तर की चंद पंक्तियां लिखी हैं। उन्होंने कहा, नर्म अल्फ़ाज़ भली बातें मोहज़्ज़ब लहजे, पहली बारिश ही में ये रंग उतर जाते हैं। इन पंक्तियों से साफ है कि मुनव्वर राणा ने फ्रांस आतंकी हमले पर जो बयान दिया, उससे कुमार विश्वास असहमत हैं।

आपको बता दें कि फ़्रांस में हुए आतंकी हमलें का समर्थन करते हुए मुनव्वर राणा ने कहा कि आप विवाद को जन्म देकर लोगों को उकसा रहे हैं. मोहम्मद साहब का कार्टून बना कर उसे कत्ल के लिए मजबूर किया गया, अगर उस स्टूडेंट की जगह मैं भी होता तो वही करता जो उसने किया. उन्होंने आगे कहा कि मजहब मां की तरह होता है, अगर कोई आपकी मां का बुरा कार्टून बनाता है या गाली देता है उसका कत्ल करना गुनाह नहीं।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों फ्रांस में एक टीचर ने क्लास के अंदर पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून दिखाया था. जिसके बाद एक स्टूडेंट ने उस टीचर की हत्या कर दी. हालांकि बाद में उस स्टूडेंट को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था. इस वारदात के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने इसे इस्लामी आंतकवाद करार दिया और कहा कि इस्लाम हमारा भविष्य हथियाना चाहता है, जो कभी नहीं होगा. साथ ही उन्होंने पैगम्बर मोहम्मद के कार्टून जारी रखने की बात कही थी।

loading...