JNU का नाम बदलकर किया जाय स्वामी विवेकानंद यूनिवर्सिटी, बीजेपी नेता CT रवि की मांग

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी ( जेएनयू ) में स्वामी विवेकानंद की मूर्ति का अनावरण किया था, इसके बाद अब एक बार फिर जेनएयू का नाम बदलने की मांग उठने लगी है. जेएनयू का नाम उस शख्स के नाम पर रखे जाने की मांग उठी है जिसने सनातन धर्म को नई ऊंचाइयां दीं, चरित्र निर्माण, मानसिक शक्ति के विकास की वकालत की।

जेएनयू का नाम बदलकर स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय करने आवाजें बुलंद हो रही हैं। बीजेपी के महासचिव सी.टी रवि ने ये मांग उठाई है, उनका मानना है कि भारत के देशभक्त संत का जीवन आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगा।

हाल ही में गोवा, महाराष्ट्र और तमिलनाडु के प्रभारी बनाए गए बीजेपी महासचिव सी.टी. रवि ट्वीट कर लिखा, स्वामी विवेकानंद भारत की विचारधार के लिए खड़े हुए थे। उनके दर्शन और मूल्य भारत की ताकत को दर्शाते हैं। यह सही है कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय का नाम बदलकर स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय कर दिया जाए। भारत के देशभक्त संत का जीवन आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगा।

गौरतलब है कि जेएनयू वामपंथी और हिन्दूवादी संगठनों के बीच संघर्ष का केंद्र रहा है। जेएनयू में लम्बे समय से वामपंथियों का कब्जा है., अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से अक्सर यह आरोप लगाया जाता रहा है कि वामपंथी संगठन भारत विरोधी ताकतों को परिसर में जगह देते हैं। कन्हैया कुमार, शेहला रशीद और उमर खालिद जैसे लोग जेनएयू से ही निकले हैं, जिनपर देशद्रोह का केस चल रहा है।