गिलगित-बाल्टिस्तान हमारा है, तत्काल खाली करो, भारत ने दिया पाकिस्तान को आदेश

भारत ने पाकिस्‍तान के अवैध और जबरन कब्‍जे वाले भारतीय क्षेत्र में बदलाव लाने के प्रयासों को पूरी तरह से खारिज किया है। भारत ने दोहराया है कि जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख तथा कथित गिलगित-बाल्टिस्‍तान देश का अभिन्‍न हिस्‍सा है। यह 1947 में जम्‍मू-कश्‍मीर का भारत संघ में सम्मिलन के अनुसार वैध, सम्‍पूर्ण और अटल है।

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री के आज गिलगित में दिए गए बयान के संबंध में विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव ने कहा कि पाकिस्‍तान का अवैध तरीके और जबरन कब्‍जा किए गए क्षेत्रों पर कोई अधिकार नही है। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार के कथित गिलगित-बाल्टिस्‍तान को अस्‍थायी प्रांतीय दर्जा देने के सरकार के फैसले पर टिप्‍पणी की है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि पाकिस्‍तान के ऐसे प्रयासों से क्षेत्र के निवासियों पर पिछले 70 सालों से पाकिस्‍तानी कब्‍जे, मानवाधिकारों के हनन, शोषण तथा स्‍वतंत्रता नकारने को छिपाने की उसकी मंशा जाहिर होती है। प्रवक्‍ता ने कहा कि इन भारतीय क्षेत्रों के दर्जे में बदलाव करने की बजाय पाकिस्‍तान को तुरंत अवैध कब्‍जे के क्षेत्रों को खाली कर देना चाहिए।