मोदी सरकार ने किया डिजिटल प्रहार तो चिंतित हुआ चीन…देने लगा WTO की दुहाई

pm-narendra-modi-warn-china-during-laddakh-visit

केंद्र की मोदी सरकार ने चीन पर डिजिटल प्रहार करते हुए 43 और चाइनीज एप्स को बैन कर दिया। भारत ने राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए चाइनीज एप्स को प्रतिबंधित किया। भारत के इस कदम से चीन काफी चिंतित हो गया है, चिंतित होना लाजिमी भी है क्योंकि इससे चीन को काफी आर्थिक नुकसान होगा। भारत में चाइनीज ऐप बैन होनें के बाद चीन ने चिंता जाहिर करते हुए विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) की दुहाई दी है.

चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने आरोप लगाया कि भारत बार-बार ‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ को बहाने के तौर पर इस्तेमाल करके चीनी पृष्ठभूमि वाले मोबाइल ऐप्स को बैन कर रहा है। प्रवक्ता जी रोंग ने कहा कि हम ‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ के बहाने भारतीय पक्ष द्वारा बार-बार हमारे देश के ऐप को बैन करने की घटना का विरोध करते हैं। भारत का यह कदम डब्ल्यूटीओ को नियम के खिलाफ है।

बता दें कि भारत सरकार ने मंगलवार को अलीबाबा समूह के ई-वाणिज्य ऐप अली एक्सप्रेस समेत 43 और चीनी मोबाइल ऐप पर पाबंदी लगा दी। मई से जारी चीन के साथ सीमा पर गतिरोध के बीच भारत सरकार ने चौथी बार ऐसा कदम उठाया है। इस तरह से भारत द्वारा अब तक चीन के 267 ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इनमें पबजी, टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, फेसयू, वीचैट रीडिंग जैसे ऐप शामिल थे।