वरिष्ठ वकील हरीश सॉल्वे ने फ्री में लड़ा अर्नब का केस, जेल से लौटने के बाद अर्नब ने जताया आभार

सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी तलोजा जेल से बाहर आ गए हैं, अर्नब को बेल दिलवाने में देश के माने-जाने वरिष्ठ वकील हरीश सॉल्वे का विशेष योगदान रहा है. वरिष्ठ अधिकवक्ता ने सुप्रीम कोर्ट में बहुत ही जबरदस्त दलील दी. जेल से वापस आने के बाद अर्नब ने हरीश सॉल्वे का आभार व्यक्त किया है, साथ ही एक बहुत बड़ा खुलासा भी किया है।

जेल से लौटने के बाद अर्नब गोस्वामी ने रिपब्लिक टीवी पर अपने प्रोग्राम में कहा कि “मैं नहीं जानता कि आप सभी में से कितने लोग यह जानते हैं, लेकिन हरीश साल्वे ने अदालत में अपनी कीमती उपस्थिति के लिए हमसे एक रुपया भी नहीं लिया है। वह हमारे लिए निस्वार्थ खड़े रहे। यह कुछ ऐसा है जिसके लिए मैं अपना आभार और धन्यवाद भी व्यक्त नहीं कर सकता।

गौरतलब है कि अर्णब के ख़िलाफ़ जिस मामले में महाराष्ट्र सरकार ने कार्रवाई की है उसमें उन पर आरोप था कि उन्होंने साल 2018 में अन्वय नाइक को उनका 83 लाख रुपए का बकाया नहीं चुकाया। यह केस 2019 में सबूतों के अभाव में बंद हो चुका था। लेकिन अर्णब को फँसाने के लिए इसे दोबारा रीओपन किया गया।

आपको बता दें कि वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश सालवे देश के पूर्व सॉलिसिटर जनरल रह चुके हैं, सॉल्वे पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव का केस इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस ( आईसीजे ) में एक रूपये में लड़ रहे हैं। हाल ही में उन्होंने लंदन में दूसरी शादी की।