हामिद अंसारी ने फिर उगला जहर, राष्ट्रवाद को लेकर दिया बड़ा बयान

hamid-ansari-ask-proof-balakot-air-strike

भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने एक बार फिर जहर उगला है, ये वही हामिद अंसारी हैं जो कई सालों तक भारत के उपराष्ट्रपति रहे उसके बावजूद इन्होनें कहा था कि भारत में डर लगता है। अब हामिद अंसारी ने कोरोना को राष्ट्रवाद से जोड़ते हुए बेतुका बयान दिया है।

हामिद अंसारी ने शुक्रवार ( 20 नवंबर, 2020 ) को कहा कि आज देश ऐसे ‘प्रकट और अप्रकट’ विचारों एवं विचारधाराओं से खतरे में दिख रहा है जो उसको हम और वो की काल्पनिक श्रेणी के आधार पर बांटने की कोशिश करती हैं. अंसारी ने कहा कि कोरोना वायरस संकट से पहले ही भारतीय समाज दो अन्य महामारियों- धार्मिक कट्टरता और “आक्रामक राष्ट्रवाद” का शिकार हो चुका, जबकि इन दोनों के मुकाबले देशप्रेम अधिक सकारात्मक अवधारणा है क्योंकि यह सैन्य और सांस्कृतिक रूप से रक्षात्मक है।

हामिद अंसारी ने यह सभी बातें कांग्रेस नेता शशि थरूर की पुस्तक ‘द बैटल ऑफ बिलॉन्गिंग’ के डिजिटल विमोचन के मौके पर कही. बकौल हामिद अंसारी, कोविड एक बहुत ही बुरी महामारी है, लेकिन इससे पहले ही हमारा समाज दो महामारियों- धार्मिक कट्टरता और आक्रामक राष्ट्रवाद का शिकार हो गया था। उन्होंने यह भी कहा कि धार्मिक कट्टरता और उग्र राष्ट्रवाद के मुकाबले देशप्रेम ज्यादा सकारात्मक अवधारणा है।

आपको बता दें कि इससे पहले हामिद अंसारी ने भारतीय सेना के शौर्य पर सवाल उठाते हुए एयरस्ट्राइक का भी सबूत माँगा था। इसके अलावा हामिद ने कहा था कि अगर भारत ने पाकिस्तानी फाइटर प्लेन ऍफ़-16 को मारा है तो उसका भी सबूत देना चाहिए। उस समय हामिद अंसारी को पाकिस्तान की बातों पर ज्यादा भरोसा था। भारत पर कम।

loading...