हरियाणा के लोग दिवाली पर नहीं जला पाएंगे पटाखे, खटटर सरकार ने पटाखों की बिक्री पर लगाया बैन

भारत को एक धर्मनिरपेक्ष देश कहा जाता है, लेकिन ये धर्मनिरपेक्षता सिर्फ हिन्दुओं पर लागू होती है..बात जब मुस्लिमों की आती है तो सारी धर्मनिरपेक्षता धरी की धरी रह जाती है.!

दरअसल हिन्दुओं का जब भी कोई त्यौहार होता है खासकर दिवाली तब तमाम सेलिब्रिटी, राज्य सरकारें ज्ञान बांटने आ जाते है कि पटाखे मत फोड़ो नहीं तो पॉल्यूशन फैलेगा। हालाँकि इस बार प्रदुषण के साथ-साथ कोरोना का भी हवाला दिया रहा है. इस दिवाली पर हरियाणा के लोग पटाखे नहीं जला पाएंगे। राज्य की खट्टर सरकार ने पटाखों की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। मतलब जब पटाखे बिकेंगे नहीं तो जलाएगा कौन।

हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार का कहना है कि पटाखे जलानें से कोरोना फैलने का खतरा रहेगा, इसीलिए पटाखों की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है। आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली और राजस्थान सरकार भी पटाखों की बिक्री पर बैन लगा चुकी हैं. भाजपा शासित कर्नाटक सरकार ने भी पटाखों पर बैन लगाया था लेकिन बाद में अपना फैसला बदल दिया।

इस बार राज्य सरकारें पटाखों को बैन करने के लिए कोरोना का हवाला दे रही हैं. लेकिन इससे पहले जब कोरोना नहीं होता था तब भी पटाखे जलाने का विरोध करती आई हैं, हिन्दू लोग एक ही दिन सिर्फ दिवाली को पटाखे जलाते हैं उससे भी दिक्कत है।