लव-जिहाद के खिलाफ ‘जनता मार्च’ निकाल रहे लोगों पर दिल्ली पुलिस ने किया हमला, साधू-संतों को भी नहीं छोड़ा

रविवार ( 1 नवंबर, 2020 ) को लव-जिहाद के खिलाफ जनता मार्च निकाल रहे लोगों पर दिल्ली पुलिस ने हमला बोल दिया, साधू-संतों को भी नहीं छोड़ा गया, दिल्ली पुलिस की इस बर्बरतापूर्ण कार्यवाही से लोगों में काफी आक्रोश है, लोग दोषी पुलिस अधिकारीयों के खिलाफ कार्यवाही की मांग कर रहे हैं।

आपको बता दें कि लव-जिहाद के “विरुद्ध जनता मार्च” सुदर्शन न्यूज़ के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके की अगुवाई में निकाला जा रहा था, जैसे ही जनता मार्च, दिल्ली के इण्डिया गेट पर पहुचा वैसे ही दिल्ली पुलिस आक्रामक हो गई और हमला बोल दिया, कई लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया, इस हमलें के विरोध में सुरेश चव्हाणके अपने साथियों संग राजपथ मानसिंह रोड चौराहे पर धरने पर बैठ गए।

सुदर्शन न्यूज़ ने दावा किया है कि दिल्ली पुलिस के अधिकारी सरफराज के आदेश के बाद दिल्ली पुलिस ने जनता मार्च निकाल रहे लोगों पर हमला किया, सुदर्शन के मुताबिक, जनता मार्च में शामिल भगवाधारियों को जूतों से मारा गया और उन्हें गंदी गंदी गालियां दी गई।

गौरतलब है कि देशभर में लव-जिहाद के मामलें बढ़ रहे हैं, अभी हाल ही में हरियाणा के फरीदाबाद में तौसीफ़ ने निकिता तोमर की ह्त्या कर दी थी, ये भी लव जिहाद से जुड़ा मामला था, उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने तो लव जिहाद के खिलाफ कानून बनानें का ऐलान कर दिया है।

मालूम हो कि लव-जिहाद के अंतर्गत मुसलिम लड़के एक साज़िश के तहत हिंदू लड़कियों को फँसा लेते हैं, उनसे शादी करते हैं और फिर धर्म परिवर्तन करा लेते हैं। कभी-कभी तो ह्त्या भी कर दी जाती है।