दिल्ली में बेकाबू हुए हालात, हर घंटे में हो रही 5 लोगों की मौत, CM केजरीवाल विज्ञापन देने में व्यस्त

arvind-kejriwal-new-order-on-corona-virus-prevention

दिल्ली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है। दिल्ली में दिन-प्रतिदिन हालात बहुत भयावह होते चले जा रहे हैं। दिल्ली की लचर स्वास्थ्य सुविधाओं उजागर हुई हैं, दिल्ली में हालात बेकाबू हो गए हैं, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि दिल्ली में हर घंटे में कोरोना वायरस से पांच लोगों की मौत हो रही है. कोरोना को कंट्रोल करने के बजाय सीएम केजरीवाल विज्ञापन देनें में मस्त हैं। विज्ञापन में केजरीवाल खुद को दिल्ली का बेटा और भाई बताते हैं। कोरोना संकट के समय में लोगों को अधड़ में छोड़ दिए हैं। दिल्ली हाइकोर्ट ने केजरीवाल सरकार को फटकार लगाई है.

हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा है कि कोरोना से मरने वालों के परिजनों को क्या जवाब दोगे? हर रोज मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है। रोज कोई न कोई अपने किसी करीबी या परिजन को खो रहा है, उन्हें क्या जवाब देंगे।

आपको बता दें कि सोमवार ( 23 नवंबर, २०२० ) को दिल्ली में 121 लोगों की मौत हुई, इस आंकड़े के मुताबिक हर घंटे में पांच लोगों की कोरोना से मौत हो रही है, सीएम केजरीवाल ने मॉस्क न पहनने वालों पर 2000 रूपये जुर्माना लगानें का आदेश दिया है, पहले 500 रूपये जुर्माना लगता था. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में लगातार चौथे दिन कोरोना से 100 से ज़्यादा मौत दर्ज की गई हैं. कोरोना से अब तक कुल मौत का आंकड़ा 8512 पर पहुंच गया है.

दिल्ली भाजपा के वरिष्ठ नेता विजय गोयल राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर आज मॉस्क वितरण करेंगे। विजय गोयल ने कहा कि कोरोना और केजरीवाल से बचने के लिए मास्क वितरण करूँगा। जुर्माने के 2000रु.के बदले सरकार को 2000रु. के मास्क उसको देने चाहिए।

दिल्ली में सीएम केजरीवाल के घुटने टेकने के बाद अब केंद्र सरकार ने कमान संभाल ली है, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में COVID-19 Mobile RT-PCR Lab की शुरुआत की। इस लैब में टेस्ट की लागत 499 रूपये है जो मोदी सरकार वहन करेगी। दिल्ली की जनता के लिए यह टेस्ट निशुल्क होगा। आम लोगों को सुलभ कोविड टेस्टिंग उपलब्ध कराने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

loading...