3 वकीलों और कानून के 2 छात्रों ने कुणाल कामरा के खिलाफ SC में दाखिल किया अवमानना का मुकदमा

फ्लॉप स्टैंडअप कॉमेडियन कुणाल कामरा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में आपराधिक अवमानना का मुकदमा दाखिल हो गया है, अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से सहमति मिलने के बाद 3 वकीलों और कानून के 2 छात्रों ने मिलकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी की जमानत के बाद कामरा ने माननीय सुप्रीम कोर्ट पर अपमानजनक टिप्पणी की थी. इसके बाद कुछ वकीलों ने अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से कामरा के खिलाफ अवमानना का मुकदमा चलानें की इजाजत मांगी थी, जिसपर उन्होंने सहमति दे दी.

कुणाल कामरा के खिलाफ याचिका दायर करने वाले याचिकाकर्ताओं के नाम :-

श्रीरंग कातनेश्वरकर (कानून के छात्र, औरंगाबाद, महाराष्ट्र)
निकिता धवन (कानून की छात्रा, दिल्ली)
अमेय अभय सिरसिकर (वकील, पुणे)
अभिषेक शरद रसकर (वकील, पुणे)
सत्येंद्र विनायक मुले (वकील, पुणे)

कुणाल कामरा के खिलाफ अवमानना का मुकदमा चलाये जानें कि सहमति देते हुए एटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि लोग समझते हैं कि कोर्ट के बारे में कुछ भी कह सकते हैं। मैंने ट्वीट देखे। आपराधिक अवमानना का मामला बनता है। आपको बता दें कि रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को जमानत मिलनें के बाद कुणाल कामरा ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर विवादित ट्वीट किये थे. आदेश देने वाले न्यायाधीश धनञ्जय यशवंत उर्फ़ डी वाई चंद्रचूड़ के अपमानजनक भाषा का प्रयोग किया था।

आपको बता दें कि कुछ महीनें पहले कुणाल कामरा ने फ्लाइट में अर्नब गोस्वामी के साथ बेहूदा हरकत की थी, इसके बाद इंडिगो और एयरइंडिया एयरलाइंस ने कुणाल कामरा पर बैन लगा दिया था. फिर भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आया. अब देश की सर्वोच्च अदालत पर अपमानजनक शब्दों का प्रयोग कर रहा रहा है।