72 साल में कांग्रेस सबसे बदतर स्थिति में है, LS में विपक्ष के नेता का पद भी नहीं: गुलाम नबी आजाद

बिहार विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस में खुलकर आंतरिक कलह सामने आ गई है, एक तरफ कपिल सिब्बल जैसे वरिष्ठ नेता पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठा रहे हैं तो वहीँ अशोक गहलोत जैसी कांग्रेस नेता सोनिया और राहुल गांधी का बचाव कर रहे हैं, इन सबके बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने बड़ा बयान दिया है।

गुलाम नबी आजाद ने रविवार को कहा है कि पिछले 72 सालों में कांग्रेस सबसे निचले पायदान पर है। यहां तक कि कांग्रेस के पिछले दो कार्यकाल के दौरान लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद भी नहीं है। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कांग्रेस ने लद्दाख में हिल काउंसिल चुनाव में 9 सीटें जीतीं, जबकि हम इस तरह के सकारात्मक परिणाम की उम्मीद नहीं कर रहे थे।

कांग्रेसी नेता के वीआईपी कल्चर पर सवाल उठाते हुए गुलाम नवी ने कहा कि 5-स्टार से चुनाव नहीं लड़े जाते। हमारे नेताओं के साथ समस्या है कि अगर टिकट मिल गया तो 5-स्टार में जाकर बुक हो जाते हैं। एयर कंडीशनर गाड़ी के बिना नहीं जाएंगे, जहां कच्ची सड़क है वहां नहीं जाएंगे। जब तक ये कल्चर हम नहीं बदलेंगे, हम चुनाव नहीं जीत सकते।

गुलाम ने आगे कहा कि हमारा ढ़ांचा कमजोर है, हमें ढ़ांचा पहले खड़ा करना पड़ेगा। फिर उसमें कोई भी नेता हो चलेगा। सिर्फ नेता बदलने से आप कहेंगे कि पार्टी बदल जाएगी, बिहार आएगा, मध्य प्रदेश आएगा, उत्तर प्रदेश आएगा, नहीं वो सिस्टम से बदलेगा

loading...