बिहार चुनाव: नीतीश कुमार ने CM योगी के इस बयान का किया विरोध, घुसपैठियों के प्रति दिखाया प्रेम!

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के अंतिम चरण में 07 नवंबर को मतदान होना है। इसके लिए जमकर प्रचार अभियान चल रहा है। सीमांचल के इलाके में होने वाले मतदान से पहले असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने सीएए और एनआरसी को मुद्दा बना दिया है। मुस्लिम बहुत इलाके में यह मामला छाया हुआ है।

बुधवार को जब बीजेपी के फायरब्रांड नेता, स्टार प्रचारक और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ कटिहार में जनसभा करने पहुंचे तो उन्होंने साफ कहा कि अगर एनडीए में सत्ता में आई तो घुसपैठियों को बाहर कर दिया जाएगा। वहीं सीमांचल के किशनगंज जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए बिहार सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हिन्दुस्तान से किसी को बाहर करने का किसी में दम नहीं है।

बुधवार को यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कटिहार घुसपैठ की समस्या से त्रस्त है। बिहार में एनडीए की सरकार बनने पर घुसपैठियों को निकाल बाहर करेंगे। उन्होंने कहा कि एनडीए के भाजपा प्रत्याशी तार किशोर को चौथी बार आशीर्वाद दें,आपके आशीर्वाद से घुसपैठ की समस्या का समाधान होगा।

योगी आदित्यनाथ की रैली के बाद जब नीतीश कुमार कटिहार पहुंचे तो उन्होंने कहा कि कुछ लोग दुष्प्रचार और फालतू बात कर रहा है कि देश से निकाल दिया जाएगा। किसी में इतना दम नहीं है कि किसी दो देश से बाहर निकाल दे। एनडीए के दोनों नेताओं के एक ही मुद्दे पर अलग-अलग बयान से मतदाताओं पर क्या असर पड़ेगा, यह तो 10 नवंबर को ही पता चल पाएगा। लेकिन इन बयानों से गठबंधन सहयोगी बीजेपी और जेडीयू की राय सीएए-एनआरसी के मुद्दे को लेकर एक नहीं लग रही है।

कटिहार में नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोग दुष्प्रचार और फालतू बात करते रहते हैं। यहां से कौन किसी को देश से बाहर करेगा। इस देश में किसी में दम नहीं है कि हमारे लोगों को देश से बाहर कर दे। सब लोग हिन्दुस्तान के हैं। सब भारत के हैं। ये सब कैसी बात करते रहते हैं?