बॉम्बे हाईकोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला, कंगना की हुई जीत, शिवसेना को लगा झटका और फटकार भी गए

बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस कंगना रनौत के मुंबई स्थित ऑफिस में 9 सितंबर, 2020 को बीएमसी द्वारा की गई तोड़फोड़ को लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट ने आज बड़ा फैसला सुनाया है, इस मामले में 5 अक्टूबर को हाईकोर्ट ने सुनवाई की थी और दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित कर लिया था।

बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना रनौत को दिया गया BMC का नोटिस रद्द कर दिया है साथ ही अदालत ने अधिकारियों को कड़ी फटकार भी लगाई। 9 सितंबर को शिवसेना नियंत्रित बीएमसी ने कंगना रनौत के ऑफिस में कुछ हिस्सों को अवैध बताते हुए तोड़फोड़ की थी जिसके विरोध में कंगना ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इसके बाद कोर्ट ने बीएमसी द्वारा की जा रही कार्रवाई पर रोक लगा दी थी।

बॉम्बे हाई कोर्ट ने कंगना के ऑफिस में अवैध निर्माण को तोड़ने की बीएमसी की प्रक्रिया पर रोक लगाते हुए पूछा था कि नगर निकाय के अधिकारी मालिक की गैरमौजूदगी में संपत्ति के भीतर क्यों गए। वहीं दूसरी तरफ, भाजपा विधायक आशीष शेलार ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे की सरकार बदले की राजनीति कर रही है।