पार्टी मेरी माँ है, मंत्री क्या? लालू यादव चाहे जितना बड़ा पद दें, BJP के लिए सब ठुकरा दूंगा: ललन पासवान

चारा घोटाले में सजायाफ़्ता लालू प्रसाद यादव झारखण्ड में बैठकर बिहार की राजनीति को प्रभावित कर रहे हैं, लालू यादव ने जेल से फोन करके भाजपा विधायक ललन पासवान को न सिर्फ मंत्रिपद का ऑफर दिया बल्कि उनसे विधानसभा में अनुपस्थित रहने को कहा कि स्पीकर के चुनाव में. लालू यादव और भाजपा विधायक की बातचीत का ऑडियो वायरल होनें के बाद बिहार की राजनीति में भूचाल आ गया.

राष्ट्रीय जनता दल ( आरजेडी ) मुखिया लालू प्रसाद यादव ने जिस भाजपा विधायक को प्रलोभन दिया गया है, उन्होंने सजायफ्ता नेता के साथ बातचीत की बात को स्वीकार कर लिया है। भाजपा विधायक ललन पासवान ने कहा कि लालू जी का फोन आया था तो मेरे PA ने फोन उठाया। मुझे लगा बधाई के लिए फोन किया है। वो कहने लगे कि स्पीकर को गिराना है तत्काल गिराना है। हमने ऐसा करने से मना कर दिया।

आजतक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए ललन पासवान ने कहा कि पार्टी ( भाजपा ) मेरी माँ है, लालू यादव मंत्री क्या? मुझे चाहे जितना बड़ा पद दें पार्टी के लिए सब ठुकरा दूंगा। भाजपा विधायक ने आगे कहा कि पार्टी ने मुझे पहचान दी है, एनडीए कार्यकर्ताओं ने विधायक बनाया है. उन्होंने कहा कि पार्टी के लिए जान भी देनी पड़ी तो देंगे, पार्टी से बढ़कर कुछ भी नहीं है, पार्टी ने ही मुझे इस लायक बनाया है कि आज लालू यादव जैसे लोग मुझे फोन कर रहे हैं.

ललन पासवान ने आगे कहा कि मुझे सबसे ज्यादा तकलीफ इस बात से हुई कि लालू यादव ने लालच देकर एक गरीब का ईमान खरीदने की कोशिश की. ललन के पास जिस वक्त लालू का फोन आया वो उस वक्त बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के आवास पर मौजूद थे.

फोन करके लालू यादव ने कहा कि विधानसभा के स्पीकर का चुनाव है उसमें शामिल मत होइए। हम तुम्हें मंत्री बनाएंगे। आगे बढ़ाएंगे। हालाँकि भाजपा विधायक ने लालू यादव की सभी बातों को सिरे से खारिज कर दिया।