भाजपा के आक्रामक तेवर से घबराये ओवैसी, सताने लगा हैदराबाद की गद्दी छिनने का डर

हैदराबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन चुनाव में भाजपा ने दमखम लगा दिया है, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने यह कहते हुए रोड शो किया कि कोई भी चुनाव छोटा या बड़ा नहीं होता। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह तक ने चुनाव प्रचार किया। भाजपा के आक्रामक तेवर से असदुद्दीन ओवैसी घबरा गए हैं.

हैदराबाद के सांसद और AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हैदराबाद में में सबसे बड़ा मुद्दा प्रदूषण का है। प्रदूषण की बात करनी चाहिए, प्रदूषण को नियंत्रित करना है, ये भाजपा वाले हिन्दू-मुस्लिम का प्रदूषण फैलाना चाहते हैं. बता दें कि लम्बे समय से ओवैसी लोकसभा में हैदराबाद की नेतृत्व करते आये हैं. मेयर भी इनका और इनकी सहयोगी पार्टी टीआरएस का रहता है लेकिन इस बार भाजपा ने इन सबकी नींद उड़ा दी है.

अमित शाह से पहले हैदराबाद पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर करने पर जोर दिया। योगी ने कहा कि हमने फैज़ाबाद का नाम अयोध्या किया। हमने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया। ये हमारे संस्कृति के प्रतीक हैं। तो हैदराबाद का प्राचीन नाम भाग्यनगर क्यों नही हो सकता। सीएम योगी के बयान पर पलटवार करते हुए ओवैसी ने खा कहा तुम्हारा ( योगी आदित्यनाथ ) नाम बदल जाएगा लेकिन हैदराबाद का नहीं।

पॉलिटिकल पंडित बताते हैं कि बीजेपी को ओवैसी के इसी पलटवार का इंतज़ार था। हैदराबाद के नाम का एजेंडा ओवैसी के लिए एक ट्रैप यानी जाल था। वे आखिर इस ट्रैप में आ ही गए!

हैदराबाद की धरती से सीएम योगी ने ओवैसी और सत्तारूढ़ टीआरएस पर निशाना साधते हुए कहा कि TRS और AIMIM का नापाक गठबंधन बना है, ये यहां (हैदराबाद) के विकास में बाधा बन रहा है। यहां का प्रत्येक नागरिक, व्यापारी परेशान है। यहां की सरकार और कॉर्पोरेशन में जो लोग रहे हैं उनका विकास और जनता की बुनियादी सुविधाओं से कोई लेना देना नहीं हैं. वहीं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि हैदराबाद में मेयर भाजपा का ही होगा।

loading...