तलोजा जेल से बाहर आते ही अर्नब गोस्वामी ने भरी हुंकार, उद्धव ठाकरे को दी खुली चुनौती!

सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद बुधवार ( 11 नवंबर, 2020 ) को देर रात रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी तलोजा जेल से बाहर आ गए. अर्नब रात को करीब साढ़े आठ बजे जेल से बाहर आये। अर्नब की झलक पाने के लिए तलोजा जेल के बाहर समर्थकों का भारी जमावड़ा लगा रहा। सुरक्षा के लिहाज से भारी पुलिसबल भी तैनात था.

तलोजा जेल से बाहर निकलने के बाद अर्नब गोस्वामी ने भारत माता की जय और वन्दे मातरम् के नारे लगाए। अर्नब ने कहा कि ये भारत के लोगों की जीत है। मैं सुप्रीम कोर्ट का आभारी हूँ। इसके बाद अर्नब ने सीधा रिपब्लिक स्टूडियो का रुख किया। स्टूडियों में पहुँचने के बाद रिपब्लिक के मीडियाकर्मियों ने अर्नब का जोरदार स्वागत किया।

अर्नब ने कहा कि मैं देश के लोगों को इतना प्यार, समर्थन और स्नेह देने के लिए धन्यवाद करता हूँ, मुझे जेल के बाहर लोगों के दिलों, देश के लोगों से समर्थन मिला है। ये समर्थन मैंने 24 से 25 सालों की कठिन पत्रकारिता में कमाई है।

अर्नब गोस्वामी ने कहा कि मेरा हौसला अब पहले से भी ज्यादा बुलंद है। मुझे जेल में डालकर सरकार को क्या मिला। लोग सत्ता का दुरुपयोग करके सोचते हैं इस नेटवर्क को तोड़ेंगे। लेकिन देश के लोग हमारे साथ हैं। हम कभी भी समझौता नहीं करेंगे। अर्नब ने कहा कि ‘भारत के लोग रिपब्लिक के साथ है। जो भी हमनें रिपोर्टिंग की है उसपर हमें गर्व है। चाहे वह हाथरस केस हो या फिर सुशांत केस या पालघर केस हो। जनता सब देख रही है और सब जानती है।

उद्धव ठाकरे सरकार पर निशाना साधते हुए अर्नब गोस्वामी ने कहा कि ये लोग सोचते थे कि एक आदमी का मनोबल तोड़ देंगे। एक नेटवर्क को तोड़ देंगे। क्या ये लोग हमारे मनोबल को तोड़ सकते हैं। बिल्कुल नहीं तोड़ सकते। इसके अलावा अर्नब ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि वह कुछ ही महीनों के भीतर अलग-अलग भाषाओं में चैनल लांच करेंगे यानि रीजनल न्यूज़ चैनल। जैसे गुजरती, मराठी, कन्नड़, तमिल आदि भाषाओं में.