जिस तलोजा जेल में अर्नब को रखा गया है उसकी छमता है 2 हजार कैदियों की जबकि रखे गए हैं 4000 कैदी!

मुंबई पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गए रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को रविवार ( 8 नवंबर, 2020 ) को अलीबाग क्वारंटाइन सेंटर से तलोजा जेल भेज दिया गया. सुबह 9 बजे पुलिस वैन में अर्नब गोस्वामी को बैठाकर मुंबई पुलिस अलीबाग क्वारंटाइन सेंटर से तलोजा जेल गई।

तलोजा जेल शिफ्ट करने पर अर्नब ने अपनी जान को खतरा बताते हुए सुप्रीम कोर्ट से मदद की गुहार लगाई है, तलोजा जेल खूंखार गैंग्स, आतंकवादियों और अपराधियों से भरा हुआ है, इसी जेल में आतंकवादी दाऊद इब्राहिम के भी गुर्गे मौजूद है और इसी जेल में कई और बड़े गैंगस्टर्स भी मौजूद है। इसके अलावा तलोजा जेल से एक गंभीर जानकारी सामने आई है.

तलोजा जेल के बाहर से रिपोर्टिंग कर रहे रिपब्लिक के पत्रकार सैयद सुहेल ने बताया कि तलोजा जेल में 2 हजार कैदियों को रखने की छमता है लेकिन यहाँ दोगुना कैदी रखे गए हैं, यानि 4 हजार। इसके अलावा उन्होंने बताया कि कोरोना की वजह से जेल प्रशाशन अर्नब गोस्वामी से किसी को मिलने नहीं देगा। यही नहीं फोन पर भी बात नहीं कर सकते हैं. जो फोन पर बात भी करते हैं उनका महीनों में नंबर आता है वो भी 5 मिनट। यानि अगर आपको किसी कैदी से बात करना हो तो पहले नाम लिखवाएं, नंबर आएगा महीनों बाद. तलोजा जेल खुद कह चुका हैं कि यहाँ अब किसी कैदी को न लाया जाय इसके बावजूद अर्नब को वहां ले जाया गया है।

बताते चलें कि अर्नब गोस्वामी ने अपनी जान को खतरा बताते हुए सुप्रीम कोर्ट से मदद की गुहार लगाई है. जेल जाते वक्त अर्नब गोस्वामी ने कहा था कि मुझे प्रताड़ित किया जा रहा है, सुबह 6 बजे मेरे साथ धक्कामुक्की की गई, मेरी जान को खतरा है, मुझे मेरे वकील से नहीं मिलने दिया जा रहा है। अर्नब जी जमानत याचिका पर आज सेशंस कोर्ट में सुनवाई होगी।