उद्धव सरकार को लगा सुप्रीम कोर्ट में करारा झटका, इस मामले में अर्नब की गिरफ्तारी पर लगी रोक

विशेषाधिकार हनन मामले में महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार को सुप्रीम कोर्ट में करारा झटका लगा है, सुप्रीम कोर्ट ने अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है, सर्वोच्च अदालत ने विशेषाधिकार हनन मामले में अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर रोक लगाई। इतना ही नही, सुप्रीम कोर्ट ने विधानसभा सचिव को अवमानना यानि contempt की नोटिस भी जारी की।

विशेषाधिकार हनन मामले में महाराष्ट्र विधानसभा द्वारा द्वारा भेजी गई चिट्ठी की भाषा पर सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा एतराज जताया है, सर्वोच्च अदालत ने कहा- एक अधिकारी की ऐसी हिम्मत कैसे हुई कि SC आने पर किसी को धमकाए? अभी इस मामले में अर्णब की गिरफ्तारी नहीं होगी। अगली सुनवाई 2 हफ्ते बाद होगी।

गौरतलब है कि इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाईक को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार पत्रकार अर्नब गोस्वामी मुंबई पुलिस विशेषाधिकार हनन के आरोप में जेल भेजने की तैयारी में थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है.

शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गृहमंत्री अनिल देशमुख की अवमानना करने का आरोप लगाते हुए विधानसभा में अर्नब के खिलाफ अधिकार हनन का प्रस्ताव पेश किया था।  इस पर विधानसभा अध्यक्ष नाना पाटोले की ओर से कई बार अर्नब को तलब किया जा चुका है लेकिन वह पेश नहीं हुए हैं। ये मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा जहाँ उद्धव सरकार को कड़ी फटकार मिली।