फिर सामने आया अभिसार शर्मा का दोगलापन, शिवसेना MLA के घर ED का छापा पड़ने से बिलबिला

एबीपी न्यूज़ से भगाये जानें के बाद आजकल यु-ट्यूब पर पत्रकारिता कर रहे तथाकथित पत्रकार अभिसार शर्मा का दोगलापन एक बार फिर सामने आया है, जी हाँ! शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक के घर प्रवर्तन निदेशालय ( ED ) का छापा पड़ते ही अभिसार शर्मा बिलबिला उठे और बिना किसी साक्ष्य के केंद्र सरकार आरोप लगा दिए कि भाजपा बदले की भावना से कार्यवाही कर रही है.

हाल ही मुंबई पुलिस ने जब एक बंद पड़े पुराने केस में रिपब्लिक मीडिता नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को बर्बरतापूर्वक गिरफ्तार किया था, तब अभिसार शर्मा बहुत खुश थे लेकिन जैसे ही ED ने पैसों की हेराफेरी मामलें में शिवसेना विधायक के बेटे की गिरफ़्तारी की तो इन्हें राजनीति दिखनी लगी, इसे दोगलापन न कहा जाय तो क्या कहा जाय।

दरअसल प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार ( 24 नवंबर, 2020 ) को सुबह शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक के आवास और दफ्तर पर छापेमारी की, इस दौरान ईडी ने प्रताप सरनाइक के बेटे बिहंग को गिरफ्तार कर लिया।

शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक के बेटे की बिहंग की गिरफ़्तारी के बाद अभिसार शर्मा ने कहा कि इससे पहले प्रताप सरनाईक की चर्चा नहीं थी लेकिन अब ED छापा मारकर उन्हें गिरफ्तार कर रही है. अभिसार ने आगे कहा की ED के जरिये भाजपा खिलाफत करने वालों को साफ़ सन्देश दे रही है कि खैर नहीं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिवसेना विधायक के बेटे बिहंग को पैसे की हेराफेरी के मामले में गिरफ्तार किया है, सूत्रों के मुताबिक़, उनकी सम्पत्ति में अचानक इजाफा हुआ. ऐसे ही कुछ सबूत मिलने के बाद ED ने एक्शन लिया। ED के छापे के बाद कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा था कि पिछले कुछ दशकों में शिवसेना नेताओं ने जमकर भ्रस्टाचार किया और अकूत संपत्ति अर्जित की है, इसकी तो जांच होनी ही चाहिए। निरुपम ने यह भी साफ़ किया कि ED की कार्यवाही राजनीति से प्रेरित नहीं होना चाहिए, लेकिन भ्रस्टाचारियों के खिलाफ जांच भी जरुरी है।