गंगा नदी में छोड़े गए 30 घड़ियाल, केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने की सराहना

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में गंगा नदी में 30 घड़ियाल छोड़े गए, केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सराहना करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के वन विभाग के प्रयास से जीवों का संरक्षण हो रहा है.

प्रधान मुख्य वन संरक्षक राजीव कुमार गर्ग, मुख्य वन संरक्षक एनके जानू शनिवार को दोपहर में गंगा बैराज पहुंचे। यहां पर उन्होंने डीएफओ सूरज कुमार के साथ हैदरपुर वेटलैंड में कराए जा रहे विकास कार्यो का निरीक्षण किया।

शनिवार ( 22 नवंबर, 2020 ) को घड़ियाल प्रजनन केंद्र, कुकरैल-लखनऊ से लाए गए 30 घड़ियाल, जिसमें 3 नर व 27 मादा हैं, को लेकर गंगा नदी में छोड़ा। डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के कोआर्डिनेटर संजीव यादव व वन क्षेत्राधिकारी मोहन कुमार बहुखंडी ने बताया कि मगरमच्छ व घड़ियाल की प्रजाति भिन्न होती है। उन्होंने बताया कि मगरमच्छ की बनावट साधारण होती है तथा इसके लंबे नुकीले दांत होते हैं व इनका जबड़ा पूरा खुलता है.