थाने के अंदर की गई फ़ौजी की पिटाई, माँगी गई रिश्वत, पीड़ित जवान राणा सिंह ने रो-रो कर बताई आपबीती

रायबरेली में पुलिसवालों का अमानवीय कृत्य सामने आया है, इसकी चर्चा पूरे जिले में हो रही है और खाकी को लोग कोसने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं. मामला डीह थाना क्षेत्र का है, जहां थाने के एक सिपाही ने फौजी को थाने बुलाकर पिटाई कर दी. मामला पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में आने पर जांच के बाद न्याय का आश्वासन दिया गया।

डीह थाना क्षेत्र के पूरे धनी गांव के रहने वाली राणा सिंह भारतीय सेना के जवान हैं हैं. राणा सिंह के परिवार का पड़ोस के रहने वाले शिव प्रकाश विश्वकर्मा से जमीनी विवाद काफी दिन से चला रहा है. इस समय भी दबंगों ने फौजी की जमीन पर जबरन मिट्टी डलवाने लगे. छुट्टी पर आए फौजी ने विवाद खत्म करने का प्रस्ताव रखा लेकिन दबंग शिव प्रकाश ने अपनी पहुंच का हवाला देते हुए उसकी एक नहीं सुनी और थाने में फर्जी सूचना दे दी।

सूचना पर पहुंचे डीह थाने के सिपाही अनिल कुमार विश्वकर्मा फौजी को थाने ले गए और विपक्षियों के सामने गाली देते हुए उसकी पिटाई कर दी. जब फौजी ने रोते हुए बताया कि थानाध्यक्ष डीह जेपी यादव को बताई तो उन्होंने समझौता कराकर मामला शांत कराने की बात कही।

फौजी ने आरोप लगाया कि यह सारा घिनौना काम गांव के प्रधान रामू मिश्रा ने कराया है. उन्होंने ही फोन करके सिपाही से कहा इसको दो-चार लट्ठ मारो जिससे कि इसकी गर्मी निकल जाए.अपनी बेज्जती सहन ना कर पाने के बाद फौजी पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा और एसपी से न्याय की गुहार लगाई।

loading...