यूपी STF ने ‘मुलायम सिंह यादव’ को किया गिरफ्तार, सेना भर्ती में फर्जीवाड़ा करने का आरोप!

यूपी एसटीएफ ने Mulayam Singh Yadav नाम के एक रिटायर्ड फ़ौजी को गिरफ्तार कर लिया है, मुलायम पर लाखों रूपये लेकर सेना भर्ती में फर्जीवाड़ा करने का आरोप है, एसटीएफ ने प्रयागराज के कम्पनी बाग़ से मुलायम को गिरफ्तार किया। मुलायम के खिलाफ सिविल साइंस थाने में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और फर्जीवाड़े की एफ आई आर दर्ज थी।

जानकारी के अनुसार, Mulayam Singh Yadav यूपी के कौशाम्बी का रहने वाला है, सेना में नौकरी करता था, पंजाब में नियुक्ति थी, इस बीच एक भर्ती में वह कुछ भर्ती माफियाओं के साथ मिलकर सेटिंग कराने लगा उसने अपने भांजे प्रदीप को फर्जीवाड़ा करके नियुक्ति कराई थी, इस काम में लखनऊ के एक डॉक्टर से भी उसकी सेटिंग थी जिसकी मदद से वह मेडिकल पास कराने के नाम पर अभ्यर्थियों से लाखों रुपए वसूले तथा पकड़े जाने पर मुलायम सिंह यादव ने बताया कि अप्रैल 2020 में वह रिटायर हुआ है।

मुलायम सिंह यादव

गौरतलब है कि 20 जनवरी 2020 को मिलिट्री इंटेलिजेंस की टीम को साथ लेकर सिविल लाइंस में एसटीएफ ने सीओडी छिवकी में फायर इंजन ड्राइवर प्रदीप सिंह यादव, 6 महार रेजीमेंट में नायक के पद पर तैनात संजय पांडेय, मनीष यादव और त्रिपतिनाथ सरोज को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से तीन अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड, तमाम अभिलेखों के 229 स्क्रीन शाट, आठ मोबाइल तथा पौने तीन लाख रुपये बरामद किए गए। पूछताछ में पता चला था कि गिरोह का सरगना अजय यादव उर्फ Mulayam Singh Yadav ही लखनऊ, वाराणसी, मेरठ तथा अन्य इलाकों में होने वाली भर्तियों में अभ्यर्थियों से पैसे लेकर काम कराते थे।