UP पुलिस ने रहमान, मसूद समेत PFI के 4 मास्टरमाइंड को किया गिरफ्तार, हाथरस के बहाने दंगा कराना चाहते थे

उत्तर प्रदेश पुलिस ने कटटर इस्लामिक संगठन ( PFI ) के 4 मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया था, इन लोगों का मकसद हाथरस केस के बहाने उत्तर प्रदेश में जातीय दंगा कराना था।

यूपी पुलिस ने पीएफआई के जिन 4 लोगों को गिरफ्तार किया है उनकी पहचान अतीकउर रहमान, सिद्दीकी, मसूद अहमद और मो. आलम के रूप में हुई है, चारों को मथुरा से गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार किये गए लोगों से वेबसाइट से जुड़े होने के सुराग मिले हैं और भड़काऊ व आपत्तिजनक कंटेंट तथा सदिग्ध साहित्य भी बरामद किये गए हैं।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, अतीक-उर रहमान यूप के मुजफ्फरनगर का रहने वाला है, सिद्दीक केरल के मलप्पुरम का निवासी है, मसूद अहमद बहराइच और मो. आलम रामपुर का रहने वाला है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की सुरक्षा एजेंसियों ने खुलासा किया था कि हाथरस केस के बहाने उत्तर प्रदेश में जातीय हिंसा फैलाने की साजिश रची जा रही है, इसके लिए रातों-रात वेबसाइट तैयार की गई, उस वेबसाइट पर दंगा करने और उसके बाद बचने के तरीके भी बताये गए थे। इस साजिश में PFI और SDPI का नाम सामने आया।

हालाँकि सुरक्षा एजेंसियों को जैसे ही साजिश का पता चला तत्काल वेबसाइट को बंद करवा दिया और इस साजिश को नाकाम करने में जुट गए, इसी कड़ी में PFI के 4 मास्टरमाइंड को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, इनसे पूछताछ के बाद बड़े खुलासे भी हो सकते हैं व् साजिश में शामिल अन्य लोगों की गिरफ्तारियां भी हो सकती हैं।

आपको बता दें कि PFI और SDPI दोनों कट्टर इस्लामिक संगठन हैं, इनको इस्लामिक मुल्कों से तगड़ी फंडिंग मिलती है, CAA के विरोध में फ़रवरी में हुए हिन्दू विरोधी दंगों में भी इन दोनों इस्लामिक संगठनों का नाम आया है, दिल्ली की तरह दंगे की साजिश इन संगठनों ने यूपी में भी रची लेकिन अभी तक योगी सरकार की सख्ती क वजह से दंगाई अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाए।