बिना नौकरी-बिजनेस किये 80 सम्पत्तियों के मालिक हैं तेजस्वी-तेज प्रताप यादव, डिप्टी CM ने उठाया सवाल

बिहार के राघोपुर विधानसभा क्षेत्र से किस्मत आजमा रहे आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को राघोपुर से नमांकन किया, चुनावे हलफनामे में तेजस्वी यादव ने अपनी संपत्ति का खुलासा किया है, 31 वर्षीय तेजस्वी यादव यादव 52 सम्पत्तियों ( करीब 5.88 करोड़ ) के मालिक हैं, वहीँ इनके भाई और लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव भी 28 सम्पत्तियों ( करीब 2.83 करोड़ ) के मालिक हैं, दोनों भाइयों की सम्पत्ति को लेकर बिहार के उपमुख्यमंत्री ने सवाल उठाया है.

भाजपा के वरिष्ठ नेता और बिहार के डिप्टी सीएम सुशिल कुमार मोदी ने पटना में प्रेस-वार्ता करते हुए कहा कि आखिर 31 साल की उम्र में तेजस्वी यादव 52 और तेजप्रताप 28 से ज्यादा सम्पत्ति के मालिक कैसे बन गए, जबकि उनकी कोई पुश्तैनी सम्पत्ति नहीं थी, उन्होंने आरोप लगाया कि बिना किसी नौकरी, व्यवसाय के इतना पैसा कहां से आया कि किसी अन्य को 4 करोड़ 10 लाख का कर्जा भी दे दिया. सुशील ने आरोप लगाया कि दोनों नेताओं को जो सम्पत्ति उपहारस्वरूप प्राप्त हुई उसे 2005 में खरीदी हुई दिखाई जा रही है।

आपको बता दें कि चुनावी हलफनामे के अनुसार 2015 में तेजस्वी यादव की संपत्ति 2.13 करोड़ रुपए की थी। 2020 में बढ़ कर 5.88 करोड़ रुपए की हो गई है। यानी कि पांच साल में उनकी संपत्ति साढ़े तीन करोड़ रुपये के करीब बढ़ी है। वहीं, 31 मार्च 2020 तक तेजस्वी यादव के पास 1 लाख 20 हजार रुपये नकद था।

सुशील कुमार मोदी ने पूछा है कि तेजप्रताप यादव बतायें कि बिना नौकरी, बिजनेस के करोड़ों की सम्पत्ति के मालिक कैसे बनें ? 2015 में पहली बार विधायक बनने से पहले ही वे करोड़ों की चल, अचल सम्पत्ति के मालिक कैसे बन गए थे ? 29 लाख की बीएमडब्ल्यू कार और 15 लाख की अमेरिकन रेसिंग बाइक की शौक रखने वाले तेज प्रताप यादव की आय का स्रोत क्या था?

loading...